दस कैबिनेट मंत्रियों नहीं मिली जगह

केंद्र नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में गुरुवार को 24 कैबिनेट मंत्रियों समेत 57 मंत्रियों ने शपथ ग्रहण की, जिसमें निवर्तमान 10 कैबिनेट मंत्रियों को जगह नहीं मिली है जबकि दो राज्य मंत्रियों को पदोन्नत कर कैबिनेट में शामिल किया गया है। 


जिन कैबिनेट मंत्रियों को इस बार सरकार में जगह नहीं मिली है उनमें निवर्तमान वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वाणिज्य एवं उद्योग तथा नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री उमा भारती तथा महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गाँधी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा, भारी उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्री अनंत गीते, इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह, जनजातीय कार्य मंत्री जुएल उरांव और कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह शामिल हैं। श्री जेटली ने स्वास्थ्य कारणों से उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किये जाने का स्वयं अनुरोध किया था।

पिछली सरकार में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को इस बार कैबिनेट में जगह दी गयी है। गृह राज्य मंत्री किरेन रिजीजू और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख लाल मांडविया को भी पदोन्नत कर स्वतंत्र प्रभार दिया गया है।
निवर्तमान राज्य मंत्रियों में सर्वश्री महेश शर्मा, मनोज सिन्हा, राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ और के.जे. एल्फोंस (चारों स्वतंत्र प्रभार) को भी इस बार मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है। अन्य निवर्तमान राज्य मंत्रियों में सर्वश्री विजय गोयल, राधाकृष्णन पी., एस.एस. अहलूवालिया, रमेश चंदप्पा जिगाजिनागी, विष्णु देव साई, राम कृपाल यादव, हंसराज गंगाराम अहीर, हरीभाई चौधरी, राजेन गोहेन, जसवंत सिंह भाभोर, शिव प्रताप शुक्ला, सुदर्शन भगत, वीरेंद्र कुमार, अनंत कुमार हेगड़े, जयंत सिन्हा, विजय सांपला, अजय टाम्टा, कृष्णा राज, अनुप्रिया पटेल, सी.आर. चौधरी, पी.पी. चौधरी, सुभाष भामरे और डॉ. सत्यापाल सिंह भी वापसी नहीं कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*