पटना में एक पुरुष सिपाही ने क्यों की महिला सिपाही की हत्या ?

बिहार की राजधानी पटना के बिहार सैन्य पुलिस (BMP) के कैंपस में एक पुलिस कांस्टेबल ने पहले एक महिला पुलिसकर्मी को गोली मारी फिर खुद गोली मार कर आत्महत्या कर ली. इस घटना ने पुलिस महकमें की नींद उड़ा दी है.

पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने कहा कि बिहार सैन्य पुलिस-1 कैंपस में एक ही राइफल से कुल पांच गोलिया चली. यह तो निसंदेह है की एक पुरुष सिपाही ने एक कमरे में पहले एक महिला सिपाही को गोली मारी फिर खुद को गोली मर कर आत्महत्या कर ली. पुलिस करने का विश्लेषण कर रही है”।

मृतक कांस्टेबल की पहचान क्रमश: अमर सुब्बा और वर्षा टिग्गा के रूप में हुई है. बीएमपी-1 गोरखा वाहिनी जवानों के अनुसार फायरिंग की घटना के बाद कैंपस में पगली घण्टी बजी तब जाकर लोगों को इस घटना के बारे में जानकारी मिली. दोनों लोगों के शव एक ही जगह से बरामद की गयी है और वही से एसएलआर रायफल भी मिली है.

एडिटोरियल कमेंट- महिला पुलिस विद्रोह का यह भी है कारण: तो कितना कुरूप है पुरुष नौकरशाहों का चेहरा

सूत्रों की माने तो दोनों पुलिसकर्मी दार्जलिंग के रहने वाले बताये जा रहे है. प्रेम प्रसंग के मामले से भी इंकार नहीं किया जा सकता लेकिन दोनों विवाहित (Separately Married) थे.

इस बात की सम्भावना बताई जा रही है की पुरुष एवं महिला सहकर्मी का एक दूसरे से प्रेम सम्बन्ध था. आज सुबह कुछ विवाद होने पर अमर ने वर्षा को गोली मार दी. इसके बाद उसने ख़ुदकुशी कर ली. हालांकि दोनों की पहले से शादी हो चुकी थी.

इस घटना की वजह्कर पुलिस महकमा इसपर कुछ भी कहने से बच रहा है. “एसएसपी ने कहा की हर बिंदु पर जांच चल रही है”.

पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा के साथ एफएसएल की टीम ने घटनास्थल का निरिक्षण किया। ने इस घटना की पुष्टि की है. इस घटना के बाद से बिहार सैन्य पुलिस के कैंपस में अफरा-तफरी का माहौल है. फिलहाल प्रशाशन ने कैंपस में मीडिया के प्रवेश पर पाबन्दी लगा दी है.

महिला पुलिस अधिकारियों को भी पुरुषवादी मानसिकता से बाहर निकलने की जरूरत : सुमो  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*