प्रधानमंत्री मोदी की आवाज का उन्हीं के खिलाफ गजब इस्तेमाल

प्रधानमंत्री मोदी की आवाज का उन्हीं के खिलाफ गजब इस्तेमाल

जनांदोलनों में विरोध के नए-नए तरीके इजाद होते रहे हैं, लेकिन किसान आंदोलनकारियों ने प्रधानमंत्री मोदी की आवाज का उन्हीं के खिलाफ गजब इस्तेमाल किया!

कुमार अनिल

आज सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें कुछ आंदोलनकारी चल रहे हैं। पीछे से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुराने भाषण का ऑडियो बजता है। प्रधानमंत्री मोदी पूछ रहे हैं, पेट्रोल के दाम कम हुए कि नहीं? आगे चल रहे कुछ युवा जोर से बोलते हैं-नहीं! प्रधानमंत्री की खास शैली से हर कोई परिचित है। प्रधानमंत्री की आवाज सुनते ही राहगीर देखने लगते हैं। आइडिये की जरूरत सिर्फ बिजनेस में ही नहीं पड़ती, आंदोलन में भी पड़ती है।

प्रधानमंत्री की आवाज फिर गूंजती है-अब आपकी जेब में थोड़ा-बहुत पैसा बचने लगा कि नहीं? आगे चल रहे युवा फिर जोर से बोलते हैं-नहीं। फिर प्रधानमंत्री मोदी की आवाज गूंजती है- ऐसे नहीं, पूरी ताकत लगा कर जोर से बोलिए-पेट्रोल के दाम कम हुए कि नहीं ? फिर आगे चल रहे आंदोलनकारी जोर से कहते हैं- नहीं।

RLSP का JDU में विलय, उपेंद्र कुशवाहा ने कर दिया ऐलान

वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी ने इस वीडियो को ट्विट करते हुए लिखा-तेरा तुझको अर्पित। यह हिंदू दर्शन की चर्चित लाइन है। आरती में भी यह पंक्ति आती है। मतलब मेरा कुछ नहीं है। सब तेरा ही है, तुझी को वापस कर रहा हूं।

ध्रुव राठी ने भी इस वीडियो को ट्विट करते हुए लिखा-प्रतिरोध का शानदार तरीका।

कई लोगों ने फिर से बाबा रामदेव के वीडियो को भी शेयर किया है, जिसमें वे युवकों से पूछ रहे हैं कि 35 रुपए लीटर पेट्रोल चाहिए कि नहीं, जो 35 रुपए लीटर देगा, उसे वोट दोगे, या जो 70 रुपए देगा उसे?

युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा-अब आप ही जवाब दीजिए। कई अन्य लोगों ने प्रतिक्रिया देते हुए यह भी कहा कि इसे बंगाल में किया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*