राहुल के भाषण से मोदी नर्वस, PM को कहा हिम्मत है तो मेरी आंखों में आंखें डाल कर दिखाइए

लोकसभा में अविश्वास प्रसताव पर बहस के दौरान राहुल गांधी ने सरकार की बोलती बंद कर दी बल्कि मुस्कुरा रहे  पीएम मोदी को यहां तक कह ड़ाला कि महाशय मेरी बात पर मुस्कुरा कर अपने नर्वसनेस को छुपा रहे हैं. उनमें इतना साहस नहीं कि वह मुझसे नजरें मिला सकें.

राहुल ने अपने भाषण में मोदी सरकार की एक एक नाकामी पर तीखा प्रहार किया और यहां तक कह डाला कि मोदी खुद को देश का चौकीदार बताते हैं बल्कि सच्चाई यह है कि वह ( लूटने वालों के) साझीदार हैं.

उन्होंने कहा कि 522 करोड़ रुपये का एक हवाई जहाज जिसे कांग्रेस सरकार ने खरीदने के लिए पैक्ट किया था, उसी को रातों रात मोदी सरकार ने एक हाईजहाज का दाम 1600 करोड़ कर दिया. इसका फायदा एक उद्योग पति को मिला. उन्होंने रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के संदर्भ में कहा कि पहले उन्होंने वादा किया था कि राफेल डील की जानकारी देश को देंगे लेकिन बाद में वह यह कहते हुए मुकर गयीं कि इस समझौते की शर्त गोपनीय है. लेकिन जब मैं फ्रांस के राष्ट्रपति से मिला, जहां से यह डील हुई है तो उन्होंने कहा कि ऐसी कोई गोपनीय शर्त फ्रांस ने नहीं रखी.

जहां जाइए वहां आप देखेंगे कि एक भारतीय को पीट कर मारा जा रहा है पर मोदीजी इस पर अपनी जुबान नहीं खोलते. पूरी दुनिया में देश की साख गिरी है क्योंकि मोदी सरकार बोलने के अलावा कोई काम जानती ही नहीं. दो करोड़ रोजगार देने का वादे करने वाली सरकार की रिपोर्ट के मुताबित ही महज चार लाख रोजगार का सृजन हर वर्ष हो पा रहा है- राहुल गांधी

 

राहुल के इस बयान से सीतारमण  इतनी परेशान हुई कि उन्होंने टोकाटोकी शुरू कर दी. बाद में इस विवद के बाद सदन को स्थगित करना पड़ा.

राहुल ने कहा कि इस देश में लाखों किसानों का कर्ज माफ नहीं किया जा रहा लेकिन मोदी सरकार ने 25 उद्योग पतियों का ढ़ाई लाख करोड़ माफ कर दिया. उन्होंने अमित शाह पर भी हमला बोला और कहा कि उनके बेटे जय शाह की आमदनी 16 हजार गुणा ब़ढ गयी लेकिन मोदी जी ने एक लफ्ज नहीं कहा. इस कथन पर भी सदन में जोरदार हंगामा हुआ. इस दौरान मोदी मुस्करा रहे थे. उनकी मुस्कुराहट देख कर राहुल ने कहा कि महाशय मेरी बात पर मुस्कुरा कर अपने नर्वसनेस को छुपा रहे हैं. उनमें इतना साहस नहीं कि वह मुझसे नजरें मिला सकें.

राहुल ने कहा कि मेरे भाषण सुनने के बाद एनडीए के नेताओं ने तारीफ की है. लेकिन मोदी जी मुझे पप्पू कहते हैं तो भी मैं विचलित नहीं होता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*