राहुल शहीदों के सम्मान में खड़े हुए, भाजपा ने उड़ाया उपहास

राहुल शहीदों के सम्मान में खड़े हुए, भाजपा ने उड़ाया उपहास

लोकसभा में राहुल गांधी ने भजपा को फंसा दिया। राहुल ने आंदोलनकारी शहीद किसानों के सम्मान में मिनटभर मौन खड़े होने की अपील की, तो भाजपा सदस्य शोर मचाते रहे।

कुमार अनिल

आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी सिर्फ किसान आंदोलन पर बोले। उन्होंने लोकसभा सदस्यों से कहा कि देश के किसान दिल्ली की सीमा पर महीनों से संघर्ष कर रहे हैं। सौ से अधिक किसानों की मौत हो चुकी है। वे दो मिनट मौन श्रद्धांजलि देंगे। उन्होंने सदस्यों से खड़े होने की अपील भी की। राहुल गांधी तो मौन खड़े रहे, पर भाजपा सदस्यों ने मौन रहने की अपील खारिज कर दी। भाजपा सदस्य जोर-जोर से शोर मचाते रहे।

हम दो-हमारे दो कहकर किया तीखा हमला

राहुल गांधी ने आज अपने संक्षिप्त भाषण की शुरुआत में ही तीखा व्यंग्य किया। उन्होंने तीन कृषि कानूनों की चर्चा करते हुए कहा कि इसका मकसद है हम दो-हमारे दो को लाभ देना। उनका इशारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी-गृहमंत्री अमित शाह और अडानी-अंबानी की तरफ था। उनके इतना बोलते ही भाजपा सदस्यों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। भाषण के तुरत बाद सोशल मीडिया में कांग्रेस आक्रामक हो गई। देखते-देखते ट्विटर पर हम दो-हमारे दो ट्रेंड करने लगा।

भाजपा ने शहीदों का उपहास उड़ाया : भक्तचरण दास

ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी की तरफ से नियुक्त बिहार प्रभारी भक्तचरण दास आज संसद में भाजपा के व्यवहार से आहत हैं। कहा, भाजपा ने शहीद किसानों का अपमान किया है। राहुल गांधी ने मृत किसानों को श्रद्धांजलि देने का आग्रह किया। आप जिसे अन्नदाता कहते हैं, वह संघर्ष में अपनी जान दे रहा है।

तेजस्वी की बात निकली सच, हुआ था कोरोना घोटाला हुआ

भक्तचरण दास ने कहा कि सवा सौ से अधिक किसान जान दे चुके हैं। प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि देनी चाहिए थी। लेकिन जब प्रधानमंत्री ने मृत किसानों को श्रद्धांजलि नहीं दी, बड़ी पार्टी होने के कारण भाजपा की जिम्मेवारी थी, लेकिन उसने भी जब मृत किसानों के प्रति श्रद्धा प्रकट नहीं की, तो यह काम राहुल गांधी ने किया। लेकिन उनकी अपील पर श्रद्धांजलि स्वरूप मौन रहने के बजाय भाजपा सदस्य उपहास उड़ाते रहे। संसद में किसानों के इस अपमान को देश कभी नहीं भूलेगा।

सुनिये नीतीशजी, आपके 18 दागी मंत्रियों को हटावाये बिना नहीं छोड़ेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*