STET, TET, CTET अभ्यर्थियों के पक्ष में उतरे राजद, कांग्रेस, माले

STET, TET, CTET अभ्यर्थियों के पक्ष में उतरे राजद, कांग्रेस, माले

आज STET, TET, CTET अभ्यर्थियों को राजद, कांग्रेस और माले का समर्थन मिला। इन दलों ने कहा कि स्कूलों में शिक्षक नहीं हैं। सभी अभ्यर्थियों की नियुक्ति हो।

आज राजद, कांग्रेस और माले के नेता-विधायकों ने STET में धांधली पर सरकार को घेरा और शिक्षक पात्रता परीक्षा पास किए हुए सभी अभ्यर्थियों की नियुक्ति की मांग की। राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन, माले के विधायक महबूब आलम और युवा कांग्रेस के गुंजन पटेल ने शिक्षक अभ्यर्थियों के पक्ष में आवाज उठाई।

राजद प्रवक्ता चितरंजन गगन ने सरकार से मांग की है कि विधालयों में शिक्षकों की भारी कमी को देखते हुए सीटीईटी, टीईटी या सीटीईटी उत्तीर्ण सभी शिक्षक अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देकर विधालयों में योगदान कराया जाये। जब एसटीइटी उतीर्ण अभ्यर्थियों की संख्या रिक्तियों से काफी कम है तो फिर मेघा-सूची बनाने का सवाल कैसे पैदा हो गया। मेघा-सूची की आवश्यकता तो तब होती जब क्वालिफाइड अभ्यर्थियों की संख्या से रिक्तियों की संख्या कम होती। जब विज्ञापित पदों से भी कम अभ्यर्थियों को पात्रता परीक्षा में उत्तीर्ण किया गया है तो फिर ये मेघा-सूची बना कर उतीर्ण अभ्यर्थियों का नाम हटा कैसे दिया गया ?

गगन ने कहा, प्राथमिक शिक्षकों के विज्ञापित पदों मे भी लगभग चार हजार और माध्यमिक विधालयों में लगभग छः हजार पद कम कर दिया गया है।
राजद प्रवक्ता ने कहा कि बिहार में चार लाख से ज्यादा शिक्षकों के पद रिक्त हैं। हालांकि शिक्षा मंत्री ने विधानसभा के पिछले सत्र में कहा है कि बिहार में 3 , 15 ,778 शिक्षकों के पद रिक्त हैं। अभी 1, 21,376 शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया चल रही है। इस नियुक्ति के बाद भी लगभग दो लाख शिक्षकों के पद खाली रह जायेंगे।

कश्मीर को मिल सकता है राज्य का दर्जा, अगले साल चुनाव

माले विधायक महबूब आलम ने ट्विट करके शिक्षक अभ्यर्थियों की मांगों का समर्थन किया।

युवा कांग्रेस के बिहार प्रदेश अध्यक्ष गुंजन पटेल ने कहा- फिर से युवाओं का हक मारने का वही पुराना फ़ॉर्मूला :

देरी से परीक्षा लो

2-3 सालों के बाद परिणाम घोषित करो

परिणाम में धांधली करो

छात्रों को कोर्ट जाने पर मजबूर करो

और फिर इसी बहाने बहाली रुकवा दो

Twitter प्रमुख नही हुई गिरफ्तारी, बचाव की निकाली तरकीब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*