भाजपा को जदयू से धोखाधड़ी पार्ट-टू के लिए तैयार रहना चाहिए

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के घटक जनता दल यूनाइटेड के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने को हास्यास्पद बताते हुए भारतीय जनता पार्टी को जदयू की धोखाधड़ी पार्ट-टू के लिए तैयार रहने को कहा है।

रालोसपा अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने लोकसभा चुनाव परिणाम को लेकर पार्टी के जिला अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों के साथ की गई समीक्षा बैठक के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भाजपा को जदयू से धोखाधड़ी पार्ट-टू के लिए तैयार रहना चाहिए।

श्री कुशवाहा ने लोकसभा चुनाव के बाद बिहार के मुख्यमंत्री एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार के केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होने को हास्यास्पद बताया और कहा कि जदयू के कोटे से केंद्र में मंत्री बनने के काफी प्रयास हुए लेकिन उन्हें जगह नहीं मिली। उन्होंने भाजपा को सचेत करते हुए कहा कि श्री कुमार जनादेश को अच्छी तरह से धोखा देना जानते हैं। ऐसा कोई सगा नहीं जिसे नीतीश ने ठगा नहीं, यह सच्चाई है और भाजपा को कुछ ही दिनों में पता चल जाएगा।

श्री कुशवाहा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की बात हमेशा करते रहे हैं। इस बार संसद में जदयू के 16 और राज्यसभा में भी छह सदस्य हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे में श्री कुमार को बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग जो लंबे समय से चली आ रही है उसे हर हाल में पूरी करवानी चाहिए। इस मुद्दे पर रालोसपा श्री कुमार के साथ है, भले ही अन्य मुद्दे पर मतभेद हो।
रालोसपा अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की है कि सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालयों में न्यायाधीशों की नियुक्ति पिछले दरवाजे से न होकर खुली प्रतियोगिता के माध्यम से होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज के सभी वर्गों को मौका मिलना चाहिए तभी लोगों को न्याय मिल सकेगा।
श्री कुशवाहा ने कहा कि भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने इस बार के लोकसभा चुनाव में षड्यंत्र कर लोगों को गुमराह किया है और जो मुद्दा नहीं था उसे मुद्दा बनाया गया लेकिन वे आगे ऐसा नहीं कर पाएंगे। वह चुनाव परिणाम को लेकर हतप्रभ हैं लेकिन हतोत्साहित नहीं है। अगले वर्ष होने वाले बिहार विधानसभा के चुनाव में यह अनुभव काम आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*