1.22 लाख नियुक्तपत्र बंटने से पहले JDU-RJD में जोश, BJP परेशान

1.22 लाख नियुक्तपत्र बंटने से पहले JDU-RJD में जोश, BJP परेशान। दो नवंबर को गांधी मैदान, पटना में नियुक्तिपत्र देंगे नीतीश। भाजपा कर रही जांच की मांग।

एक लाख 22 हजार से अधिक शिक्षकों को दो नवंबर को बिहार सरकार नियुक्तिपत्र देगी। प्रतीक रूप में इसकी शुरुआत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना के गांधी मैदान से करेंगे। नियुक्तिपत्र बांटने के इस कार्यक्रम के लिए गांधी मैदान को तैयार किया जा रहा है। इतने बड़े पैमाने पर शिक्षक नियुक्ति को लेकर जदयू और राजद में जोश दिख रहा है। दोनों दलों ने इसे ऐतिहासिक क्षण बताया है। उधर, भाजपा का कहना है कि नियुक्तिपत्र बांटने से पहले प्रक्रिया में हुई गड़बड़ी की जांच हो। सरकार के मंत्री श्वण कुमार ने कहा कि भाजपा के आरोप में कोई दम नहीं है। उनके पास कोई तथ्य है तो सामने लाएं।

राजद प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने कहा है कि बिहार कल एक नया इतिहास रचने जा रहा है जब किसी राज्य सरकार द्वारा एक दिन में सामुहिक रूप से एक लाख बीस हजार शिक्षकों को एक साथ नियुक्ति पत्र दिया जाएगा। इसके साथ हीं पटना का ऐतिहासिक गांधी मैदान भी कल एक नये इतिहास का गवाह बनेगा जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव जी पच्चीस हजार शिक्षकों को नियुक्ति पत्र देंगे। ज्ञातव्य है कि बीपीएससी द्वारा आयोजित प्रतियोगी परीक्षा के माध्यम से नव चयनित 1,22,323 शिक्षकों को कल राजधानी पटना सहित राज्य के जिला मुख्यालयों पर नियुक्ति पत्र दिया जा रहा है। इतनी बड़ी संख्या में एक साथ एक दिन में नियुक्ति पत्र दिए जाने का अबतक कोई इतिहास नहीं है।

राज्य सरकार के मंत्री श्रवण कुमार तथा जयंतराज ने कहा कि 2 नवंबर को गांधी मैदान में इतिहास बनने जा रहा है। जब से नीतीश कुमार ने बिहार की बागडोर संभाली है तब से बिहार के युवाओं को लगातार नौकरियां मिल रही हैं। इतनी बड़ी तादाद में पहले कभी नियुक्ति पत्र नहीं सौंप गई थी। श्रवण कुमार ने कहा कि हमारे ग्रामीण विकास विभाग में 10 लाख से अधिक स्वयं सहायता समूह का गठन हुआ है। इसके माध्यम से एक करोड़ से अधिक परिवार बिहार में आत्मनिर्भर बन चुके हैं। बिहार के स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, सिंचाई विभाग सहित अन्य विभागों में लगातार बहाली की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रतिवर्ष 2 करोड़ युवाओं को नौकरी देने का वादा किया था लेकिन साढ़े नौ वर्षों के बाद भी उनका वादा जुमला साबित हुआ। नौकरी देने की बात तो दूर बल्कि मोदी सरकार ने युवाओं से उनकी नौकरी छीनने का काम किया है।

शिक्षक भर्ती में भाजपा द्वारा धांधली के आरोपों पर उन्होंने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भाजपा आधारहीन आरोप लगाकर छात्रों की योग्यता और प्रतिभा पर सवाल खड़े कर रही है। पैसे की लेनदेन को लेकर अगर भाजपा के पास कोई प्रमाण है तो उसे सार्वजनिक करें।

कांग्रेस से सीधी लड़ाई में शाह ने मानी हार, कहा SP-BSP की मदद करो

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420