पहली बार : CAG ने अदालत में कांग्रेस नेता से मांगी माफी

पहली बार : CAG ने अदालत में कांग्रेस नेता से मांगी माफी

पहली बार किसी पूर्व CAG ने अदालत में झूठ बोलने के लिए माफी मांगी। कांग्रेस ने कहा, देश से माफी मांगें। 2जी और कोयला घोटाले की कहानी भी फर्जी।

पूर्व सीएजी विनोद राय

कुमार अनिल

अजीब समय आ गया है। संवैधानिक पदों पर बैठे लोग ही जब झूठ बोलने लगें, किसी सरकार को फंसाने लगें, किसी के इशारे पर काम करें, तो देश का क्या होगा, समझा जा सकता है।

70 साल में पहली बार आज एक ऐसा मामला सामने आया, जिस पर हर उस नागरिक को सोचना चाहिए, जिसे देश से प्यार है। पूर्व सीएजी विनोद राय ने 2014 में टाइम्स नाऊ को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने उनसे कहा है कि कोल ब्लाक घोटाले में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का नाम नहीं आना चाहिए। इस बात को फिर कई अखबारों ने छापा। महौल ये बनाया गया कि भ्रष्टाचार हुआ है और उसमें मनमोहन सिंह की भूमिका है। उसके बाद संजय निरुपम ने कहा कि यह झूठ है और राय को माफी मांगनी चाहिए। लेकिन उन्होंने माफी नहीं मांगी। तब संजय निरुपम कोर्ट में गए। आज कोर्ट में पूर्व सीएजी ने संजय निरुपम से लिखित माफी मांगी।

कांग्रेस नेता संजय विरुपम ने एक वीडियो जारी करके विनोद राय से देश से मापी मांगने की मांग की और कहा कि उन्हें कोल ब्लाक और 2जी घोटाले की कहानी गढ़ने के लिए भी देश से माफी मांगनी चाहिए। मालूम हो कि 2जी घोटाले मामले में कोर्ट ने कोई सबूत नहीं देने के लिए जांच एजेंसी पर सवाल उठाए थे। सात वर्षों तक सुनवाई के बाद भी जांच एजेंसी कोई सबूत नहीं पेश कर पाई। यह रिपोर्ट भी विनोद राय ने तैयार की थी।

माफीनामा सामने आते ही सोशल मीडिया पर कांग्रेस के साथ हुए षडयंत्र पर लोग खुल कर बोल रहे हैं। बिहार के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा-पूर्व CAG विनोद राय को माफी नहीं फांसी की सजा होनी चाहिए। 2G, कोयला घोटाला में 1-2 लाख करोड़ के फर्जी घोटाले का दुष्प्रचार कर न सिर्फ बेईमान मोदी सरकार देश पर थोप दिया, बल्कि, टेलीकॉम सेक्टर, बिजली सेक्टर को तबाह कर दिया।

पत्रकार शकील अख्तर ने कहा- ये विनोद राय जैसे लोग किसके लिए काम करते थे? उनके लिए नहीं पूछ रहे हैं। वह तो सबको मालूम है कि वह, अन्ना हजारे और दूसरे लोगों को किसने सुपारी दी थी। यहां कांग्रेस के राज में सारी तरक्की पाई। CAG बने। कौन मदद करता था? या सबकी आंखों पर पट्टी बंधी थी? लेखक अशोक कुमार पांडेय ने कहा-विनोद राय ही वह व्यक्ति हैं जिन्होंने सी ए जी रहते हुए कोयला खनन से लेकर 2G वगैरह पर वह मुद्दा दिया जिसको उछालकर भ्रष्टाचार के तमाम आरोप लगाए गए। अन्ना आंदोलन के लिए तो यह सब खाद-पानी था। अब उन्होंने पूर्व सांसद संजय निरुपम से एक मामले में माफ़ी मांगी है..।

Pegasus : राहुल ने पूछा PM या HM किसने कराई जासूसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*