पटना SSP मामले पर भाजपा की हनक कुशवाहा ने की ढ़ीली

पटना SSP मामले पर भाजपा की हनक कुशवाहा ने की ढ़ीली

पटना SSP मामले पर भाजपा की हनक कुशवाहा ने की ढ़ीली

RSS की तुलना PFI से करने पर पटना के SSP Manavjit Singh Dhillon के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने पर जदयू नेता उपेंद्र कुशवाहा ने भाजपा को दो टूक जवाब दे कर चुप करा दिया है.

कुशवाहा ने कहा कि उके खिलाफ नहीं होगी कार्रवाई, किसी के कुछ भी बोलने से नहीं होती कार्रवाई.

दीपक कुमार
बिहार ब्यूरोचीफ

पटना : पटना एसएसपी मानजीत सिंह ढिल्लों के आरएसएस को लेकर दिए गए बयान पर अब खुल कर उनके बचाव में उपेंद्र कुशवाहा आ गए हैं.कुशवाहा ने साफ कर दिया है कि एसएसपी पटना के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई नहीं होगी.

पटना SSP मामले पर भाजपा की हनक कुशवाहा ने की ढ़ीली

आलोचना के प्रचलित शब्दों से डरी सरकार, घोषित किया असंसदीय

पिछले दिनों RSS की तुलना PFI से किए जाने पर बीजेपी ने एसएसपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी के कई नेता लगातार एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.लेकिन,कई जेडीयू नेताओं के बयान से अब यह साफ हो गया है कि बीजेपी की मांग पर नीतीश सरकार कोई कार्रवाई करने के मूड में नहीं है. बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी के यह कहने के बाद कि हर मांग मान ली जाय यह जरूरी नहीं के बाद जेडीयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के बयान से स्थिति साफ हो गयी है कि अब एसएसपी पर कोई कार्रवाई नहीं होगी.

उपेन्द्र कुशवाहा का कहना है कि अगर पटना एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने कोई गलती की होगी, तो सर्विस कोड के मुताबिक कार्रवाई करने की जिनकी जिम्मेवारी है वे मामले को देख रहे हैं.इस पर जो सियासत कर रहे हैं,वह गलत है. उन्होंने कहा है कि यह कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं है. एसएसपी ने गलत कहा या सही यह प्रमाण पत्र कोई कैसे दे सकता है?उनके विभाग में जो इसके लिए अधिकृत हैं, है वह पूरे मामले को देखेंगे. अगर कोई गलती सामने आती है तो विभाग उन पर कार्रवाई करेगा.

उपेंद्र कुशवाहा ने आगे कहा कि पूरा मामला राष्ट्र की सुरक्षा से जुड़ा हुआ है.ऐसे में जो एजेंसियां हैं या जो अथॉरिटी है उसे देखेगी. बीजेपी की मांग पर उन्होंने कहा कि सर्विस कोड के मुताबिक जो भी नियम होगा उसे देखने की जिम्मेवारी जिसके पास है वे लोग देखेंगे। उन्होंने कहा कि टिप्पणी तो लोग मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति पर भी कर देते हैं, ऐसे में सभी विषय को एक साथ जोड़कर नहीं देखा जा सकता है, टिप्पणी करने वाले लोग टिप्पणी करते रहते हैं.टिप्पणी के आधार पर कार्रवाई थोड़े होती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*