तेजस्वी यादव पहली बार संविधान लेकर हाजीपुर पहुंचे। उन्होंने चुनावी सभा में संविधान की प्रति दिखाकर कहा कि भाजपा इसे खत्म करना चाहती है और चिराग पासवान संविधान खत्म करने वालों का साथ दे रहे हैं। इसी के साथ संविधान बचाओ हाजीपुर में बड़ा मुद्दा बन गया। देशभर के दलित पहले से संविधान बचाने के लिए एकजुट हैं और अब वही एकजुटता हाजीपुर में बनी, तो चिराग पासवान का चुनाव जीतना मुश्किल हो जाएगा।

तेजस्वी यादव ने डॉ आंबेडकर की तस्वीर  के साथ संविधान की प्रति दिखाकर कहा कि भाजपा वाले संविधान और दलितों-पिछड़ों का आरक्षण समाप्त करना चाहते हैं। अब तक भाजपा के कई प्रत्याशी कह चुके कि चार सौ सीट जीतने पर हम संविधान खत्म कर देंगे। तेजस्वी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने संविधान खत्म करने की घोषणा करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। याद रहे भाजपा समर्थक पहले ही दलितों के आरक्षण के खिलाफ हैं।

अब तक मिल रही ग्राउंड रिपोर्ट से यह जानकारी मिल चुकी है कि बिहार के दलित खासकर रविदास, पासी, मांझी संविधान खत्म करने के भाजपा के दावे से नाराज हैं और भाजपा का विरोध कर रहे हैं। पासवान समाज में भी संविधान बचाने को लेकर सक्रियता है, लेकिन माना जा रहा था कि चिराग पासवान के कारण पूरा पासवान समाज भाजपा के खिलाफ नहीं है। यह समाज बंटा हुआ है। अब तेजस्वी यादव ने पासवान समाज को बी संदेश दे दिया है कि संविधान खतरे में है। आरक्षण खतरे में है और चिराग पासवान संविधान-आरक्षण खत्म करने वालों का साथ दे रहे हैं।

भाजपा जीती तो राज्य पुलिस में भी अग्निवीर लागू करेगी : तेजस्वी

तेजस्वी यादव ने यह भी कहा कि इसमें चिराग पासवान का दोष नहीं है। दरअसल वे शुरू से भाजपा और संघ के साथ रहे हैं और संघ की राजनीति के रंग में पूरी तरह रंग चुके हैं। संघ संविधान और आरक्षण के खिलाफ है यह भी छुपा नहीं है। कल ही लालू प्रसाद ने देशवासियों को खुला पत्र लिख कर संविधान और आरक्षण बचाने के लिए भाजपा के खिलाफ मतदान की अपील की थी।

हाजीपुर से राजद प्रत्याशी शिवचंद्र राम ने कहा कि चिराग पासवान को हाजीपुर के बारे में कुछ भी पता नहीं है। वे बस इतना जानते हैं कि हाजीपुर उनके पिता की सीट है। यहां की समस्याओं के बारे में उन्हें कुछ भी पता नहीं। वे दस साल तक जमुई के सांसद रहे, लेकिन वहां अपना एक कार्यालय तक नहीं खोला। वे चुनाव के बाद फिर दिल्ली चले जाएंगे।

पूर्व जज व भाजपा प्रत्याशी ने ममता से पूछा बताओ तुम्हारी कितनी कीमत..10 लाख

By Editor


Notice: ob_end_flush(): Failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/naukarshahi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420