गूगल ने मां सावित्री बाई फुले को जन्मदिन पर समर्पित किया अपना लोगो

विश्व के सबसे बड़े सर्चन इंजन गूगल ने सावित्री बाई फुले के जन्म दिन 3 नवरी पर अपने सर्च इंजन का सर्ज डूडल समर्पित किया है. गूगल के होम पेज पर प्रति दिन करोड़ों लोग विजट करते हैं.savitri.bi.fule

जब आप इस लोगो को क्लिक करेंगे तो सावित्री बाई की पूरी जीवनी आप पढ़ सकेंगे. गौरतलब है कि गूगल अपने डूडल पर किसी विशेष दिन को महान हस्तियों के लिए समर्पित करता है.

सावित्री बाई महान समज सुधारक ज्योति बा फुले की पत्नी हैं और उन्हें भारत की पहली शिक्षिका के तौर पर याद किया जाता है. सावित्री बाई फुले ने महिला अधिकारों के लिए महान संघर्ष किया और महिलाओं की शिक्षा के प्रति खुद को समर्पित कर दिया. सावित्री बाई का जन्म 3 जनवरी 1831 को हुआ था.

 

उन्‍होंने 28 जनवरी 1853 को गर्भवती बलात्‍कार पीडि़तों के लिए बाल हत्‍या प्रतिबंधक गृह की स्‍थापना की.

सावित्रीबाई ने उन्नीसवीं सदी में छुआ-छूत, सतीप्रथा, बाल-विवाह और विधवा विवाह निषेध जैसी कुरीतियां के विरुद्ध अपने पति के साथ मिलकर काम किया. उन्होंने आत्महत्या करने जाती हुई एक विधवा ब्राह्मण महिला काशीबाई की अपने घर में डिलवरी करवा उसके बच्चे यशंवत को अपने दत्तक पुत्र के रूप में गोद लिया. दत्तक पुत्र यशवंत राव को पाल-पोसकर इन्होंने डॉक्टर बनाया.

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*