घोटाले में फरार ऊषा की जगह कंचन चकियार बनीं गंगा देवी कालेज की प्रिंसिपल

टॉपर घोटाला में आरोपित बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के निवर्तमान अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद की पत्नी और इस मामले में सह अभियुक्त बनाई गई उनकी पत्नी ऊषा सिन्हा की जगह प्रो. कंचन चकियार को गंगा देवी महिला कॉलेज का नया प्रभारी प्राचार्य बनाया गया है।

कंचन चकियार ने संभाला पद

कंचन चकियार ने संभाला पद

विनायक विजेता

गौरतलब है कि पूर्व विधायिका ऊषा सिन्हा भी  पटना स्थित इस महाविद्यालय में प्रभारी प्राचार्य ही थीं जो मेधा घोटाले के खुलासे के बाद छुट्टी लेकर भूमिगत हो गई हैं।

पुलिस ने इस मामले में उनके पति के साथ उन्हें भी सह अभिएुक्त बनाया है।

 

2010 में ऊषा सिन्हा जब जदयू के टिकट पर हिलसा से विधायक चुनी गई थीं तो उन्होंने कॉलेज से एक लंबी छुट्टी ले ली थी और इसी वर्ष फरवरी माह में कॉलेज में फिर से योगदान दिया था। तब भी प्रो. कंचन चकयियार को ही गंगा देवी कॉलेज का प्रभारी प्राचार्य बनाया गया था।

 

मगध विश्वविद्यालय की बुधवार से शुरु होने वाले एमबीए की परीक्षा को ध्यान में रखते हुए विश्विद्यालय ने सोमवार को ही एक पत्र जारी कर प्रो. कंचन चकयियार को गंगा देवी कॉलेज का प्रभारी प्राचार्य नियुक्त करते हुए उन्हें केन्द्राधीक्षक भी बनाया है।

गंगा देवी कॉलेज को भी एमबीए का परीक्षा केन्द्र बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*