दुनिया की सबसे बड़ी इंसानी जंजीर बनाने की दिशा में एक और सफलता, अंजनी कुमार की कोशिश ने लाया रंग

शराबबंदी जागरूकता के लिए बिहार में  बनायी जाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला की तैयारियों में एक और कामयाबी हाथ लगी है. मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह की इस पहल ने अपना रंग दिखा दिया है. 

सीएम के साथ अंजनी कुमार सिंह

सीएम के साथ अंजनी कुमार सिंह

 

लेकिन इसके लिए समय में थोड़ा फेरबदल करना पड़ा है. पहले21 जनवरी के दिन यह मानव श्रंखला 10.30 बजे बनाने की बात तय की गयी थी लेकिन अब इसके समय में थोड़ा बदलाव किया गया है

नये शिड्युल के अनुसार राज्य भर में 12.30 बजे मानव श्रंखला बनायी जाेयगी. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान के सेटेलाइट कैमरे इसकी तस्वीर ले सकें. मुख्यसचिव अंजनी कुमार सिंह व्यक्तिगत रूप से इस काम में लगे थे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जब मानव श्रंखला बनायी जाये तो इसकी सेटेलाइट तस्वीर ली जा सके.

इसरो के अधिकारियों से बातचीत के बाद अब यह सुनिश्चत हो गया है कि इसरो इस कार्यक्रम की तस्वीर उतारेगा. मुख्य सचिव यह हर हाल में सुनिश्चत करना चाहते थे कि चाहे जैसे भी हो इस मानव श्रृंखला की सेटेलाइट तस्वीर खीची जाये.

बुधवार को उन्होंने इसरो की टीम को पटना बुलाया. उनसे मीटिंग की. यह सुनिश्चित करवाया कि इसकी तस्वीर ली जाये. पर इसके लिए सेटेलाइट की पोजिशन समस्या बन रही थी. इस तरह 10.30 बजे सेटेलाइट की पोजिशन अनुकलू नहीं थी. इसलिए इस समय को दो घंटे बढ़ाया गया है.

गौरतलब है कि 21 जनवरी को शराबबंदी के प्रथि समर्थन दिखाने के लिए राज्य भर में दो करोड़ लोग एक दूसरे का हाथ थामें खड़े होंगे. इस तरह 11 हजार किलो मीटर से लम्बी मानव श्रंखला बनेगी. यह लम्बाई दुनिया भर में अब तकी बनायी गी किसी भी मानव श्रंखला से बड़ी होगी.

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*