बिहार भाजपा को चाहिए चुनावी जीत का एक स्लोगन

बिहार भाजपा को एक ऐसे चुनावी स्लोगन की दरकार है जो उसे जीत दिला सके. सुशील मोदी ने फेसबुक पर  लोगों से स्लोगन मांगा है.पढ़िए कैसे-कैसे स्लोगन  लोगों ने भेजे और  वे किस सामाजिक  पृष्ठभूमि के लोग हैं.sushil.modi

नौकरशाही डेस्क

चुनाव आयोग द्वार पिछले दिन बिहार असेम्बली चुनाव सितम्बर-अक्टूबर में कराने के संकेत देने के दूसरे दिन बिहार भाजपा के सबसे ताकतवर नेता सुशील मोदी ने फेसबुक पर अपने फालोअर्स से  सुझाव आमंत्रित किया है कि चुनाव के दृष्टिकोण से वे कोई दमदार स्लोगन बनायें और उन्हें भेजें. मोदी ने यह पोस्ट सोमवार को दोपहर 12 बजे पोस्ट किया है.

इस पोस्ट के जवाब में अब तक तीन सौ से ज्यादा लोगों ने प्रतिक्रिया दी है. इनमें सौसे ज्यादा लोगों ने स्लोगन बना कर भेजे हैं.

80 प्रतिशत अगड़ी जाति के लोग 

इस पोस्ट को अब तक 2800 से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है जबकि 88 लोगों ने शेयर किया है. फेसबुक पर मोदी के इस पोस्ट से ऐसा लग रहा है जैसे यह स्लोगन प्रतियोगिता चल रही है. एक खास बात यह है कि इस बहस में शामिल लोगों की सामाजिक पृष्ठभूमि देखें तो पता चलता है कि इनमें से 80 प्रतिशत के करीब लोग अगड़ी जातियों के हैं. इनमें  ब्रह्मण, भूमियार, कायस्थ की संख्या सबसे ज्यादा है. वहीं कुछ लोगों के नामों से उनकी जाति का पता नहीं चलता जबकि इसमें दो एक मुसलमानों ने भी प्रतिक्रिया दी है लेकिन वह मोदी के खिलाफ है.

एक दिलचस्प बात यह भी है है कि स्लोगनों की इस भीड़ में एक कैंसर पीड़ित ने सहायता की अपील कर दी तो कुछ लोगों ने सुशील मोदी की आलोचना भी की है. वहीं  आनंद मोहन के एक हिमायत करने वाले ने स्लोगन दिया है कि सबको देखा बार बार अबकी बार आनंद मोहन सरकार .

वहीं मनीष भारद्वाज ने सुशील मोदी को चेतावनी दी है कि मोदी जी बहुत हुआ स्लोगन. हमने में भी स्लोगन से हरियाणा में भाजपा को साथ दिया था तो क्या हुआ. मैं भी कभी भाजपा का फैन था. लेकिन अब भाजपा मुर्दाबाद.

यहां पढिये कुछ चुनिंदा स्लोगन

कविता रमण ने लिखा है- दिल्ली में नमो, पटना में सुमो

प्रोमोद ठाकुर– बहुत हुआ लूटने वालों का राज, अब लाओ मोदी राज

संजय कुमार- मोदी रिटर्न्स

अरुण कुमार ने लिखा है कि वह भाजपा के मेम्बर हैं और कैंसर से पीड़ित हैं. भाजपा वाले उनकी मदद करें.

मिश्रा जी ने लिखा है- भाजपा का बस एक हीं सपना , शिक्षित, सुरक्षित, और विकसित हो बिहार अपना

राकेश गांदी ने लिखा- सबको देखा,सबको परखा,हमे भी मौका देकर देखो अपनी आँखो से अपने बिहार को भी आगे बढ़ता देखो

विक्रम चौहान– अगर बिहार में रहना होगा
मोदी मोदी कहना होगा

जय प्रकाश झा – “भाजपा को जिताना है, जंगल-राज मिटाना है

मुकेश भारद्वाज– हार न माने कभी बिहार 
आओ लाएं भाजपा सरकार.

राहुल ताक– बिहार को दूर करो चोरो से ।
कमल खिलाओ जोरो से

अमर अनिल– सबको देखा बार बार 
अबकी बार आनंद मोहन सरकार

गमला राम मजदूर ने लिखा है- जनमत की ताकत दिखला दो, 
अब बिहार में कमल खिला दो

आलोक शर्मा का स्लोगन है- सबको प्यार सबको अधिकार /पूर्ण बहुमत भाजपा सरकार

अशोक जोशी ने लिखा है- बिहारमें आयेगी बहार, भाजपके संग मनायेंगे त्योहार

देव उपाद्याय- विकसित बिहार भाजपा सरकार

अनिल कुमार– सारा बिहार करे पुकार अबकी बार भाजपा सरकार।

राकेश सिन्हा– समृद्ध विहार बनाना है !
घर-घर कमल खिलाना है !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*