‘ब्रह्मेश्वर मुखिया की शवयात्रा में कोहराम मचाने पर पुलिस चुप थी, दलितों के आंदोलन में खूंखार क्यो हुई’

बिहार में फ्रीशिप जारी रखने की मांग कर रहे दलित छात्रों पर लाठीचार्ज मामले में डीएम संजय अग्रवाल और एसएसपी मनु महाराज को तलब करना चाहिए, बिहार में नई सरकार आ गई है लेकिन प्रशासनिक ढांचा जस का तस रह गया है.ssp-manu-maharaj

मनु महाराज का अखबार में दिया गया यह बयान आपत्तिजनक है कि पुलिस ने छात्रों को खदेड़ा.

बरमेश्वर मुखिया की शव यात्रा में पूरे शहर में तोड़फोड़ करने और कोहराम मचा देने वाले आतंकवादियों को चुपचाप बर्दाश्त करने वाली यही पुलिस दलित छात्रों को सामने पाकर खूंखार क्यों हो जाती है?

ऐसी क्या वजह हो गई थी कि पुलिस ने लाठीचार्ज किया? घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग भी सार्वजनिक करनी चाहिए.

जनता बहुत जालिम होती है सरकार.

 दिलीप मंडल, फेसबुक  पर 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*