सृजन के आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए इनाम घोषित 

केंद्रीय जांच ब्यूरो ने बिहार में भागलपुर जिले के चर्चित करोड़ों रुपये के सृजन घोटाला मामले में फरार चल रहे चार नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कराने वाले को पच्चीस-पच्चीस हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है। 


आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस मामले में लंबे समय से फरार चल रहे चार आरोपी भागलपुर के तत्कालीन जिला भूअर्जन पदाधिकारी राजीव रंजन सिंह, जिला कल्याण पदाधिकारी की पत्नी इन्दू गुप्ता, सृजन की संस्थापक मनोरमा देवी के पुत्र अमित कुमार और उनकी पुत्रवधू रजनी प्रिया के काफी खोजबीन के बावजूद गिरफ्त मे नहीं आने के कारण इन चारों आरोपियों पर पच्चीस-पच्चीस हजार रुपये का इनाम रखा गया है।

सूत्रों ने बताया कि इस सिलसिले में सीबीआई की ओर से अखबारों में इश्तहार दिया गया है। सृजन घोटाले के वांछित चारों आरोपियों के बारे मे सूचना देनेवालो को इनाम की.राशि दी जायेगी और उनके नाम भी गुप्त रखे जायेंगे। इशतेहार में सीबीआई के नईदिल्ली स्थित प्रधान कार्यालय के पते और दूरभाष एवं मोबाइल नंबर भी दिये गए हैं। सूत्रों ने बताया कि सृजन घोटाले के उजागर होने के समय से ही चारों आरोपी फरार हो गए हैं। इनमें से एक तत्कालीन जिला भूअर्जन पदाधिकारी राजीव रंजन सिंह ने अपने विभाग के बैंक खातों में जमा करोड़ों रुपये की सरकारी राशि को सृजन के खाते में स्थानांतरित करते हुए बाद में राशि वहां से निकाल ली गई।
सूत्रों ने बताया कि इस मामले मे जेल में बंद जिला कल्याण पदाधिकारी अरुण कुमार की पत्नी इन्दू देवी सीबीआई के छापे के समय से फरार चल रही है। इस अधिकारी ने भी अपने विभाग की एक बड़ी राशि सृजन के खाते में भेजी थी, जो बाद में गायब कर दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*