Dr.A. A Hai ने वर्ल्ड क्लास वॉयरोलॉजी टेंस्टिंग सेंटर बनाने का दिया सुझाव

Advantage Dialogue के डिजिटल सेमिनार में प्रख्यात सर्जन व सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. एए हई ( Dr AA Hai) ने कोरोना संकट से सबक लेते हुए बिहार में वर्ल्ड क्लास स्टेट  ऑफ आर्ट वॉयरोलाजी सेंटर कायम करने की सला बिहार सरकार को दी है.

Advantage Dialogue के दौरान गूगल मीट पर रत्नापुरकायस्थ्य के सवालों का जवाब देते डा. हई

डॉ. हई Advantage Dialogue: Opinion That Matters कार्यक्रम के दौरान कही. गूगल मीट पर आयोजित इस डिजिटल सत्र का संचालन मीडिया एक्सपर्ट रत्ना पुरकायस्थ्य कर रही थीं. डॉ. हई ने इस अवसर पर कोरोना संक्रमण के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान की प्रशंसा की लेकिन जोर दे कर कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में मात्र 1.5 प्रतिशत खर्च किया जाना किसी भी तरह उचित नहीं है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य बजट को कम से कम 5 प्रतिशत किया जाना चाहिए.

रत्ना पुरकायस्थ्य ने वेबीनार का संचाल किया

डा. हई ने कहा कि वर्लड लेवल स्टेट आफ आर्ट वॉयरोलाजी लैब की जरूरत बिहार को है. क्योंकि कोरोना संक्रमण की जांच की गति काफी धीमी है जो की चिंता की  बात है. हमें इस दिशा में कदम बढाने की जरूरत है. उन्होंन यह भी सलाह दी कि बिहार सरकार इस दिशा में फॉरेन कोलेबोरेसन से शुरू कर सकती है.

बिहार से संचालित होगा भारत का सबसे लम्बी अवधि तक चलने वाला डिजिटल सेमिनार

डा. हई ने कोरोना महामारी पर खास तौर पर अपनी बात रखते हुए कहा कि पब्लिक अवैरनेस ,सोशल डिस्टांसिंग और लाकडाउन जरूरी तो है लेकिन एक महत्वपूर्ण पक्ष है पब्लिक की इम्युनिटी( रोग प्रतिरोधक क्षमता) बढ़ाना.विटमिन डी, ई विटमिन सी, विटमिन ए. फ्रेश एयर, सनलाइट, से बढ़ेगी इम्युनिटी.

डॉ. हई ने एक रिसर्च का हवाला देते हुए कहा कि फास्टिंग अगर नियमित रूप से की जाये तो इम्युनिटी बढ़ती है.

खुर्शीद अहमद

इस वेबीनार का आयोजन पटना स्थित भारत की प्रसिद्ध पीआर कम्पनी एडवांटेड ग्रूप के एडवांटेज डायलॉग के पहल पर हो रहा है. एडवांटेज ग्रूप के चेयरमैन खुर्शीद अहमद ने बताया कि लाकडाउन की अपनी चुनौतियां हैं लेकिन हम अपने देश के विकास और उसकी समस्याओं के समाधान की दिशा में वैकल्पिक तरीके को अपना कर आगे बढ़ते रहेंगे.

इससे पहले Advantage Dialogue opinion that matters की शुरुआत करते हुए खुर्शीद अहमद ने बताया कि 24 एपिसोड तक चलने वाला यह कार्यक्रण हर हफ्ते शनिवार व रविवार को चलेगा और प्रतेयक हफ्ते चार सत्र हुआ करेंगे. उन्होंने कहा कि इस डायलाग को पहले आफलाइन करना था लेकिन लाकडाउन के कारण हमने इसे नये डिजिटल फार्मेट में शुरु किया है. उन्होंने इस कार्यक्रम में लोगों की भागीदार को उत्साहजनक बताया और कहा कि आने वाले दिनों में इस कार्यक्रम से जुड़ने वाले स्टेक होल्डर्स की संख्या बढती जायेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*