बंगाल में आठ चरणों में चुनाव, ममता ने उठाया सवाल

बंगाल में आठ चरणों में चुनाव, ममता ने उठाया सवाल

चुनाव आयोग ने पांच राज्यों में चुनाव कराने की तिथियों का एलान कर दिया है। बंगाल में आठ चरणों में चुनाव कराने पर ममता बनर्जी ने उठाया सवाल।

कुमार अनिल

आज चुनाव आयोग ने चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश की विधानसभाओं के लिए चुनाव की तिथियों का एलान कर दिया। बंगाल के अलावा जिन राज्यों में चुनाव होंगे, वे हैं असम, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी। तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में एक ही चरण में 6 अप्रैल को चुनाव होंगे। असम में तीन चरणों में चुनाव होंगे। वोटों की गिनती सभी राज्यों में 2 मई को होगी।

बंगाल में आठ चरणों में चुनाव कराने पर मुक्यमंत्री ममता बनर्जी ने सवाल उठाए हैं। द हिंदू के मुताबिक ममता ने कहा- पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में चुनाव क्यों? चुनाव आयोग के निर्णय में तर्क होना चाहिए। मेरा चुनाव आयोग से निवेदन है कि बंगाल को भाजपा की नजर से न देखें।

इस बीच तीन घंटे पहले ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में चल रहे अर्बन इंप्लायमेंट स्कीम में कार्यरत श्रमिकों की मजदूरी बढ़ाने की घोषणा की। उन्होंने लिखा- मुझे खुशी है कि अब श्रमिकों को 144 रुपए रोजाना की जगह 202 रुपए रोज मिलेंगे। सेमी स्किल्ड श्रमिकों को 172 रुपए की जगह अब 303 रुपए मिलेंगे। एक नई श्रेणी स्किल्ड लेबर बनाते हुए उसके लिए उन्होंने 404 रुपए रोजाना देने की घोषणा की है।

जनता स्कूल में तेजस्वी की साइकिल दौड़ी, भाजपा का बंक

ममता बनर्जी ने कहा-40, 500 अनस्किल्ड वर्कर, 8 हजार सेमी स्किल्ड और 8 हजार स्किल्ड वर्कर कुल 56 हजार 500 श्रमिकों को इस बढ़ी हुई मजदूरी से लाभ होगा।

मालूम हो कि बंगाल में 27 मार्च, 1 अप्रैल, 6 अप्रैल, 10 अप्रैल, 17 अप्रैल, 22 अप्रैल, 26 अपेरैल और 29 अप्रैल को चुनाव होंगे। असम में 27 मार्च और एक तथा छह अप्रैल को चुनाव होंगे।

काशी विद्यापीठ में परिषद का सफाया, सपा के छात्र जीते

उधर, बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि प्रदेश में पहले भी कई चरणों में चुनाव होते रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यहां हमेशा हिंसा होती है, जिससे मतदान प्रभावित होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*