Bhartat Bandh: पटना से पूणा तक 22 दलों के कार्यकर्ता सड़क पर, थम गया देश

Bharat Bandh के आह्वान के साथ पटना से ले कर पूणा तक 22 विपक्षी दलों के कार्यकर्ता सड़क पर हैं.बंद का व्यापक असर देखा जा रहा है.

Bharat Bandh

आरजडी कार्यकर्ता सुबह से ही बंद समर्थन मं जुटे हैं

यह बंद पेट्रोलियम की कीमत में बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ है
इस बंद का आह्वान कांग्रेस और वाम दलों ने किया है. लेकिन इसमें शिवसेना समेत देश भर की लगभग दो दर्जन विपक्षी पार्टियां शामिल हैं. कांग्रेस के अनुसार इस बंद में  कांग्रेस के मुताबिक समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा), द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद), मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा), जद(एस), आम आदमी पार्टी (आप), तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा), राष्ट्रीय लोक दल (रालोद), झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो), नेशनल कॉन्फ्रेंस, झारखंड विकास मोर्चा-प्रजातांत्रिक (झाविमो-प्र), एआइयूडीएफ, केरल कांग्रेस (एम), रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी), आइयूएमएल और लोकतांत्रिक जनता दल के नेता इस प्रदर्शन में शामिल हैं.
अलग-अलग राज्यों में कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों के नेता सुबह से ही बंद कराने के लिए सड़कों पर उतर आये. दूसरी तरफ, भाजपा शासित प्रदेशों में बंद को विफल करने के लिए पुलिस और प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम की भी खबरें हैं.

मोदी को हटाने का समय आ गया है

इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने नरेंद्र मोदी की सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने कई ऐसे काम किये हैं, जो देशहित में नहीं थे. उन्होंने कहा कि इस सरकार को बदलने का वक्त आ गया है.
 
इससे पहले, पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने के लिए कांग्रेस की ओर से बुलाये गये ‘भारत बंद’ के तहत सोमवार को 20 से अधिक विपक्षी दलों के नेताओं ने राजघाट से रामलीला मैदान तक मार्च किया. इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विभिन्न दलों के नेता शामिल हुए. प्रदर्शन में सोनिया गांधी के साथ पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह भी शामिल हुए.
 

Bharat Bandh बिहार में भी बड़ा असर

भारत बंद का बिहार में भी व्यापक असर देखा जा रहा है. राजधानी पटना समेत राज्य के तमाम जिलों से बंद की खबरें आ रही हैं. सड़कों पर वाहन नहीं दिख रहे, दुकानें बंद हैं जबकि स्कूलों ने पहले ही छुट्टी की घोषणा कर रखी है. राजद के नेता सड़कों पर बंद के लिए समर्थन जुटा रहे हैं. इसी तरह कांग्रेस और वाम दल के नेता भी बंद के लिए सड़कों पर निकल आये हैं. कई जगह ट्रेने रोकी गयी हैं.बिहार की राजधानी पटना में जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) के कार्यकर्ता राजेंद्र नगर टर्मिनल के रेलवे ट्रैक पर उतर गये और ट्रेनों का परिचालन बाधित कर दिया. वाहनों में तोड़फोड़ की.

भारत बंद

कटिहार समेत अनेक जिलों में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने भी बंद में हिस्सा लिया

 
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने इस मौके पर संवाददाताओं से कहा, ‘देश के सभी विपक्षी दलों ने भारत बंद में शामिल होने का फैसला किया. इसके साथ ही यह भी सहमति बनी कि दिल्ली में भी हमें एकजुटता दिखानी होगी. सभी प्रदर्शन में शामिल हो रहे हैं.’

उधर सीपीआई एमल के महासचिव दिपांकर भट्टाचर्य ने कहा है कि  ‘कीमतें आसमान में, रुपया पाताल में, सरकार अडानी-अम्बानी के जेब में – इस लिए भारत आज प्रतिवाद में सड़क पर”.

Bharat Bandh

CPI ML के कार्यकर्ताओ ने ट्रेन रोकी

अहमद पटेल ने सब को साथ लिया

 
कांग्रेस के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल ने इन सभी विपक्षी दलों के प्रमुख नेताओं से बात की थी, जिसके बाद सभी ने ‘भारत बंद’ का समर्थन किया. कांग्रेस ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के खिलाफ ‘भारत बंद’ बुलाया है.
 
 
  कांग्रेस तथा अन्य दलों ने आम लोगों को ज्यादा असुविधा ना हो इसलिए  ‘भारत बंद’ सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक रखा है. 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*