सीमांचल में कितना कारगर होगा मीम फैक्टर ?

सीमांचल में कितना कारगर होगा मीम फैक्टर ?

इमेज क्रेडिट – हिंदुस्तान

बिहार चुनाव के तीसरे एवं आखिरी चरण के लिए वोटिंग शनिवार को होनी है, जिन सीटों पर चुनाव होना है उनमें से 24 सीटें मुस्लिम बहुल सीमांचल इलाके में है. ऐसे में क्या मीम फैक्टर कारगर हो पायेगा ?

बिहार चुनाव के तीसरे चरण में कुल 16 जिलों के 78 विधानसभा सीटों पर शनिवार को मतदान होगा. इनमें से 24 सीटें सीमांचल इलाके में है जिनमे चार जिले शामिल हैं. पूर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार.

इन इलाकों में मुस्लिम समुदाय की घनी आबादी के कारण मीम का काफी असर है लेकिन कुछ सीटों पर जदयू और राजद के सिटींग विधायक भी हैं. आईये जानते हैं इन सीटों पर किसके-किसके बीच मुकाबला होने वाला है. सबसे पहले बात करेंगे किशनगंज की चार विधानसभा सीटों पर होने वाले मुकाबलों के बारे में चर्चा करेंगे.

किशनगंज

किशनगंज विधानसभा सीट की खूब चर्चा होती रही है। किशनगंज मुस्लिम बहुल सीट है। इस सीट पर हुए उपचुनाव में एआईएमआईएम के कमरुल होदा ने विजय प्राप्त की थी. इस बार मीम के कमरुल होदा को कांग्रेस के इज्हरुल हुसैन और बीजेपी की स्वीटी सिंह चुनौती दे रहे हैं.

कोचाधमन

इस सीट से जदयू के मास्टर मुजाहिद आलम सिटींग विधायक हैं. इस बार उन्हें चुनौती देने के लिए एआईएमआईएम के इज़हार अस्फी और राजद के शाहिद आलम चुनावी मैदान में हैं.

ठाकुरगंज

इस समय ठाकुरगंज विधानसभा सीट से जदयू के नौशाद आलम सिटींग विधायक हैं. इस सीट से राजद ने सउद असरार को चुनावी मैदान में उतारा हैं जबकि मीम ने हाफिज महबूब आलम को उम्मीदवार बनाया है. गोपाल अग्रवाल ठाकुरगंज सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.

बहादुरगंज

कांग्रेस के मोहम्मद तौसिफ आलम बहादुरगंज सीट से सिटींग विधायक हैं. इस बार वह लगातार चौथी बार चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट से मीम ने अंजार नईमी को उम्मीदवार बनाया है.

जोकीहाट (अररिया)

यह सीट पूर्व सांसद तस्लीमुद्दीन के परिवार के कब्ज़े में रहा है. इस सीट की उम्मीदवारी को लेकर तस्लीमुद्दीन के दोनों बेटों में तकरार हो गयी. इस बार मीम ने शाहनवाज़ आलम को अपना उम्मीदवार बनाया है. वहीँ राजद ने उनके भाई सरफ़राज़ को चुनाव मैदान में उतारा है. ऐसे में दोनों भाईओं के बीच ही मुख्य मुकाबला माना जा रहा है.

अमौर (पूर्णिया)

इस सीट को सीमांचल में कांग्रेस का किला कहा जाता है. कांग्रेस के अब्दुल ज़लील मस्तान अमौर से सिटींग विधायक हैं और तीस सालों से अधिक समय से इस सीट पर उनका कब्ज़ा है. उन्हें चुनती देने के लिए मीम ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरुल इमान को मैदान में उतारा है. वहीँ जदयू ने सबा ज़फर को उम्मीदवार बनाया है.

बायसी (पूर्णिया)

इस सीट से राजद के अब्दुस सुभान सिटींग विधायक हैं. उनके सामने मीम के सय्यद रुकनुद्दीन हैं. वहीँ भाजपा ने विनोद यादव को इस सीट से उम्मीदवार बनाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*