‘BJP से बेटी बचाओ’: भारत जोड़ो यात्रा बनी अंकिता को न्याय यात्रा

BJP से बेटी बचाओ : भारत जोड़ो यात्रा बन गई अंकिता को न्याय यात्रा

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा अंकिता को न्याय यात्रा में बदल गई। राहुल गांधी ने ट्वीट किया : प्रधानमंत्री का नारा-बेटी बचाओ, भाजपा के कर्म-बलात्कारी बचाओ।

कुमार अनिल

राहुल गांधी के नेतृत्व में कन्याकुमारी से कश्मीर तक चलनेवाली भारत जोड़ो यात्रा मंगलवार को अंकिता को न्याय दो यात्रा में बदल गई। हजारों लोग, खासकर महिलाएं जस्टिस फॉर अंकिता और बीजेपी से बेटी बचाओ तख्तियां लेकर पदयात्रा करती दिखीं। महिलाएं तख्तियां लेकर राहुल गांधी के साथ आगे-आगे चल रही हैं। खुद राहुल गांधी ने ट्वीट किया : प्रधानमंत्री का नारा-बेटी बचाओ, भाजपा के कर्म-बलात्कारी बचाओ। ये भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं जिनकी विरासत होगी- सिर्फ़ भाषण, झूठे और खोखले भाषण। इनका शासन तो अपराधियों को समर्पित है। अब भारत चुप नहीं बैठेगा।

थोड़ी देर पहले लग रहा था कि उत्तराखंड की बेटी अंकिता को न्याय का नारा उत्तरखंड के पहाड़ों में ही खो जाएगी, जैसा कई बार हो चुका है। बिवकिस बानो के बलात्कारियों को माला पहनाई गई। इसका विरोध लोकतांत्रिक समूहों तक सीमित रह गया, देश का विरोध नहीं बन सका। अब राहुल गांधी की पदयात्रा से अंकिता को न्याय की मांग उठ गई है। स्वाभाविक है, मांग केरल तक पहुंच गई। जल्द ही अन्य राज्यों में भी न्याय के लिए आवाज उठने की उम्मीद बढ़ चली है।

उत्तरखंड की भाजपा सरकार यह नहीं बताना चाहती कि किस वीआईपी के लिए अंकिता पर दबाव बनाया गया। पुलिस भी इस मामले पर चुप है। लोग आशंका जता रहे हैं कि सरकार किसी को बचा रही है। अब तो उस रिजॉर्ट में काम कर चुकी अन्य लड़कियों ने भी बताया है कि वहां लड़कियों से जबरन गलत काम कराया जाता था। जो किसी तरह बच कर निकल पाईं, वे पूरा कच्चा चिट्ठा खोल रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिलकिस बानो के रेपिस्टों की रिहाई पर भी चुप थे, इसलिए उनसे उम्मीद नहीं की जा सकती। आखिर अंकिता को न्याय कैसे मिलेगा? जवाब यही है कि बेटी के लिए पूरा देश खड़ा हो, तभी अंकिता बेटी को न्याय मिलेगा।

भाजपा से सावधान, करा सकती है दंगा, JDU ने निकाला मार्च

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*