धमकी पर जज का जवाब-चाहे जो हो, भ्रष्टाचार के गले में बांधूंगा घंटी

धमकी पर जज का जवाब-चाहे जो हो, भ्रष्टाचार के गले में बांधूंगा घंटी

कर्नाटक हाईकोर्ट के जज मीडिया में छाए हैं। उन्होंने सरकारी अधिकारी पर कड़ी टिप्पणी की, तो मिली तबादले की धमकी। जवाब ऐसा दिया, जैसा किसी ने नहीं दिया था।

कर्नाटक हाईकोर्ट के जज जस्टिस एचपी संदेश ने साबित कर दिया कि देश अभी पूरी तरह बिका नहीं है। अपनी जिम्मेदारी, सिद्धांत और उसूल सबसे बड़ा होता है, इससे समझौता नहीं कर सकते। जस्टिस एचपी संदेश ने एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) के दफ्तर को भ्रष्टाचार का केंद्र कहा था। इसके बाद उन्हें बताया गया कि सरकार उनसे नाराज है और उनका तबादला हो सकता है।

जस्टिस संदेश ने कहा कि जज बनने के बाद उन्होंने जमीन नहीं खरीदी है, बल्कि पिता की जमीन का एक हिस्सा बेचा ही है। कभी एक पैसा किसी से नहीं लिया। मैं जज रहूं या नहीं रहूं, लेकिन इस कुर्सी की गरिमा, उसूल से समझौता नहीं कर सकता। वे किसी दल, किसी विचारधारा से जुड़े नहीं हैं, सिर्फ संविधान से जुड़े हैं। संवैधानिक मूल्यों की रक्षा करेंगे। कहा, वे किसान के बेटे हैं और फिर से हल चला सकते हैं। ये है वीडियो-

जस्टिस संदेश का यह वीडियो सामने आने पर राहुल गांधी ने कहा, भाजपा एक के बाद एक संस्थाओं पर बुलडोजर चला रही है। जो भी संस्थाओं की रक्षा में संघर्ष कर रहा है, हमें उसका साथ देना चाहिए। राजद ने कहा- देश की न्याय प्रणाली पर भाजपा, संघ लगातार हमला कर रही है। वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने कहा-सैल्यूट सर, आपने इस देश की बड़ी सेवा की। सोशल मीडिया पर लगातार जस्टिस संदेश को लोग अपना सलाम पेश कर रहे हैं। वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी ने कहा- कर्नाटक हाईकोर्ट के जज एचपी संदेश को मेरा सैल्यूट। उन्होंने खुली अदालत में खुलासा किया कि किस प्रकार उन्हें तबादले की धंकी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि न्यायिक स्वतंत्रता की किसी भी कीमत पर रक्षा करेंगे। मैं बिल्ली के गले में घंटी बांधूंगा (आवाज उठाऊंगा), भले ही इसका परिणाम कुछ भी हो। मैं डरूंगा नहीं।

कांग्रेस ने BJP की बखिया उधेड़ी, पूछा ये राष्ट्रवाद है या आतंकवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*