लगातार दूसरे वर्ष भारत के हज कोटे में वृद्धि : मुख्तार अब्बास नकवी

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में लगातार दूसरे वर्ष भारत का हज कोटा बढ़ाने में सफलता मिली है. स्वतंत्रता के बाद पहली बार हज 2018 के लिए एक लाख 75 हजार और 25 श्रद्धालु भारत से जाएंगे. उन्‍होंने बताया कि 3 वर्ष पहले भारत का हज कोटा 1,36,020 था. यह पिछले दो वर्षों में बढ़कर रिकार्ड 1 लाख 75 हजार और 25 हो गया है. 

नौकरशाही डेस्‍क

दरअसल, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और सऊदी अरब मक्का सम्राज्य के हज व उमरा मंत्री द्वारा भारत और सऊदी अरब के बीच द्विपक्षीय वार्षिक हज 2018 समझौते पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद सऊदी अरब सरकार द्वारा 2018 के लिए भारत का हज कोटा बढ़ाने का निर्णय लिया गया. इस बाबत नकवी ने कहा कि ऐसा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बढ़ती लोकप्रियता और मोदी सरकार के नेतृत्व में सऊदी अरब तथा अन्य अरब देशों के साथ भारत के मित्रतापूर्ण और मजबूत संबंधों के कारण हुआ है.पिछले वर्ष भी सऊदी अरब ने भारत का हज कोटा 35 हजार बढ़ाया था.

भारत सरकार और भारत के लोगों की ओर से नकवी ने दो पवित्र मस्जिदों के कस्टोडियन महामहिम शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सउद तथा सऊदी अरब सरकार को भारत के हज कोटे में वृद्धि के लिए धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि इसके अतिरिक्त सऊदी अरब ने समुद्री मार्ग से हज श्रद्धालुओं को भेजने के विकल्प को जीवित करने के भारत के निर्णय को हरी झंडी दी है. दोनों देशों के अधिकारी आवश्यक औपचारिकताओं और तकनीकों पर बातचीत करेंगे, ताकि आने वाले वर्षों में समुद्री मार्ग से श्रद्धालु हज के लिए जा सकें.

मंत्री ने बताया कि हज 2018 के लिए 3 लाख 55 हजार आवेदन प्राप्त किए गए. पहली बार भारत से कोई मुस्लिम महिला मेहरम (पुरूष साथी) के बिना हज यात्रा पर जाएगी. 1300 से अधिक महिलाओं ने मेहरम के बिना हज यात्रा का आवेदन किया है. इन सभी महिलाओं को लॉटरी प्रणाली से छूट दी जाएगी. हज यात्रा पर जाने की अनुमति दी जाएगी. नई भारतीय हज नीति के अनुसार 45 वर्ष से अधिक आयु की हज यात्रा करने की इच्छुक वैसी महिलाओं को जिनका कोई पुरूष साथी नहीं है उन्हें चार या उससे अधिक महिलाओं के समूह में हज यात्रा पर जाने की अनुमति होगी.

 

 

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*