क्या है नींद की बीमारी OSA जिससे बप्पी लाहिड़ी की हुई मौत

क्या है नींद की बीमारी OSA जिससे बप्पी लाहिड़ी की हुई मौत

मशहूर संगीतकार बप्पी लाहिड़ी का निधन OSA(ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एप्निया) बीमारी से हुआ। उन्हें एक साल से ओएसए था। जानिए डॉक्टर जी. एन.गिरि से क्या है यह बीमारी।

शिवानंद गिरि

पटना के गौडियम हॉस्पिटल के बिहार हेड डॉक्टर जी. एन.गिरि के अनुसार, ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एप्नियाया- ओएसए साँस से जुड़ी एक समस्या है जो सोते वक़्त होती है. डॉक्टर गिरि के अनुसार Obstructive Sleep Apnoea (OSA) का मतलब होता है- Obstructive : मतलब श्वास नली में रुकावट,
Sleep: अर्थात नींद के दौरान होने वाली समस्या, और Apnoea: का मतलब होता है कुछ देर के लिए साँस का बंद हो जाना.

एक सवाल के जवाब में डॉक्टर गिरि आगे कहते हैं कि हम जब सोते हैं तो हमारे गले की माँसपेशियों का तनाव कम होता है और हवा हमारे फेफड़ों में जाती है.

परंतु, यदि ओएसए हो तो गला पूरी तरह बंद हो जाता है और हवा का प्रवाह रुक जाता है. ऐसे में थोड़ी देर के लिए साँस बंद हो जाती है.यदि ये 10 सेकंड या उससे ज़्यादा समय के लिए होता है तो इसे एप्निया कहा जाता है.ऐसा होने पर ख़ून में ऑक्सीजन का स्तर गिर जाता है.

डॉक्टर जी. एन.गिरि

ये बीमारी होने पर साँस थोड़ी देर के लिए रुक जाती है तो मस्तिष्क फिर से आपकी साँस शुरू कर देता है.

अक्सर एक गहरी साँस या हिलने-डुलने के बाद दोबारा साँस शुरू होती है.

इसके बाद व्यक्ति सो जाता है, आराम करता है और थोड़ी देर बाद फिर यही सिलसिला शुरू हो जाता है.कुछ लोग कुछ देर के लिए जाग जाते हैं, मगर बहुत सारे लोगों को समझ नहीं आता कि उनके साथ क्या हो रहा है.

यदि ये बीमारी गंभीर स्तर तक पहुँच जाती है तो ऐसा एक रात में सैकड़ों बार हो सकता है.इसकी वजह से नींद बार-बार बाधित होती है जिससे व्यक्ति दिन में उनींदा महसूस करता रहता है.

डॉक्टर बताएं हैं कि यदि इसका इलाज नहीं करवाया जाए तो सेहत और ज़िंदगी पर इसका गंभीर असर पड़ सकता है.

यह किसी को भी हो सकती है चाहें बच्चा हो या बुजुर्ग।
यदि आप पुरुष हैं और मध्य वयस्क हैं

यदि आप महिला हैं और मेनॉपॉज़ के दौर से गुज़र चुकी हैं

यदि आप गर्भावस्था के अंतिम चरण में हैं

यदि आपका वज़न ज़्यादा है या आप मोटापे का शिकार हैं

यदि आपके गले का आकार ज़्यादा है

डाउन्स सिन्ड्रोम जैसी ख़ास तरह की मेडिकल परिस्थितियों में ख़तरा हो सकता है

यदि आपको टाइप-2 डायबिटीज़ है

यदि आपको दिल की बीमारी है

सिगरेट और शराब का सेवन करने और नींद की गोलियाँ खाने से भी ख़तरा हो सकता है

क्या हैं ओएसए के लक्षण ?

डॉक्टर गिरि के अनुसार इसके कुछ लक्षण सोते समय प्रकट होते हैं और कुछ जागी हुई हालत में.

सोए हुए अवस्था में लक्षण:- इस समस्या से जूझ रहें लोगों को यदि निम्न लक्षण दिखे तो समझ लीजिए की वो इस बीमारी से ग्रस्त है।

तेज़ ख़र्राटे,जा रुकना या साँस लेने में तकलीफ़ होना,गला बँधना या तेज़ी से झटके में साँस लेना
बार-बार हिलना-डुलना
अचानक से शरीर में झटका
रात में कई बार जागना

जगे हुए लोगों में इसके क्या है लक्षण:-
ध्यान देने में कठिनाई होना
तरोताज़ा महसूस नहीं करना,उनींदी हालत में रहना,
कमज़ोर याददाश्त
दुखी या चिड़चिड़ा महसूस करना
समन्वय की कमी
यौनेच्छा में कमी
जागते समय सिरदर्द आदि।

नीतीश जी चन्नी पर खिसिया कर बिहारियों को बना रहे उल्लू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*