लोग बोले, परीक्षा पर चर्चा में पीएम की सलाह आत्मघाती

लोग बोले, परीक्षा पर चर्चा में पीएम की सलाह आत्मघाती

एक दिन बाद भी प्रधानमंत्री की परीक्षा पर चर्चा पर चर्चा जारी है। लेखकों, पूर्व आईएएस अधिकारियों ने कहा कि प्रधानमंत्री की सलाह छात्रों के लिए आत्मघाती है।

प्रधानमंत्री ने सात अप्रैल को छात्रों और अभिभावकों के साथ परीक्षा पर चर्चा की थी। इसमें उनके इस सलाह की आलोचना हो रही है, जिसमें उन्होंने कठिन प्रश्न को पहले हल करने की सलाह दी थी।

पूर्व आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने कहा-प्रधानमंत्री जी, आपको देश में करोड़ों लोग देखते और सुनते हैं। परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम में आपने कहा कि कठिन सवाल पहले हाल करें, जो किसी भी प्रतियोगी छात्र के लिए आत्मघाती सलाह है। मैंने देश की तीनों सर्वोच्च परीक्षाएं IAS, IPS और IFS क्वालिफ़ाई की हैं, अनुभव से कह रहा हूं।

मोदी को डिवाइडर इन चीफ बतानेवाले आतिश हैं शिवभक्त

कवयित्री सुमन केसरी ने ट्विट किया-गजबै बात करें हैं परधान साहिब। लगता है कबहूं इम्तहान में नहीं बैठे हैं। अरे मम्मी-पापाओं इस बात को अपना बच्चा लोग को नत बता देना, नहीं तो तीनों जन माथा पकड़ के पहले तो रोवोगे फिर आपसे में सिर फुटौवल करोगे। परधान जी तो झोला उठाए फिरत हैं-जहं-जहं टांग देवे हैं अरु आप जानो हो नतीजा।

रित्विक अग्रवाल ने लिखा- यह एक नृशंस-घटिया सुझाव है। एक्जाम में समय सीमित रहता है। गणित पढ़ानेवाले रवि रंजन ने लिखा है जिंदगी में कभी कठिन सवाल पहले हल करने की गुस्ताखी मत करना।

राजद ने पूछा राज्य में कितने कुर्मी नौकरशाह, हम बताते हैं इतने

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्विट किया कि कभी खर्चा पर भी चर्चा कर लीजिए। केंद्र सरकार की टैक्स वसूली के कारण गाड़ी में तेल भराना किसी इम्तहान से कम नहीं। फिर पीएम इस पर चर्चा क्यों नहीं करते? उन्होंने लिखा- कच्चे तेल में गिरावट के बावजूद पिछले आठ दिनों से नहीं घटे रेट्रोल-डीजल की कीमत। कांग्रेस समर्थकों ने आज खर्चा पर चर्चा हैशटैग ट्रेंड कराया। इस पर लगभग 14 हजार ट्विट हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*