ममता के भतीजे को सीबीआई नोटिस, दीदी झुकेंगी या लड़ेंगी

ममता के भतीजे को सीबीआई नोटिस, दीदी झुकेंगी या लड़ेंगी

दो दिन पहले भाजपा की पामेला कोकीन के साथ पकड़ी गईं, आज ममता के भतीजे के घर सीबीआई पहुंच गई। क्या ममता बनर्जी दबाव के आगे झुक जाएंगी या लड़ेंगी?

कुमार अनिल

बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले ऐसा हंगामा पहले कभी किसी ने नहीं देखा। दो दिन पहले भाजपा की युवा नेता कोकीन के साथ पकड़ी गईं। कल उसने मीडिया के सामने चीखते हुए कहा कि भाजपा के बड़े नेता, बंगाल भाजपा के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीज के खास राकेश सिंह को गिरफ्तार करो। इससे भाजपा परेशानी में पड़ी।

कोकीन तस्करी में पामेला के बयान पर भाजपा में गृहयुद्ध

19 फरवरी को कोलकाता के एक कोर्ट ने भाजपा नेता अमित शाह को मानहानि मामले में सम्मन जारी किया। मुकदमा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने दायर किया था। 48 घंटे के भीतर आज अभिषेक बनर्जी के घर सीबीआई पहुंच गई। सीबीआई अभिषेक की पत्नी से कोयला घोटाला मामले पूछताछ करेगी।

नीतीश को दी नई उपाधि, बताया काली अर्थव्यव्था का जनक

विपक्ष का आरोप रहा है कि जब भी चुनाव आता है, कोई आंदोलन तेज होता है, विपक्षी नेताओं के घर सीबीआई, ईडी के छापे पड़ते हैं। सवाल यह है कि क्या रैलियों में लोगों की भीड़ के मामले में अबतक भारी पड़ रहीं ममता सीबीआई नोटिस के बाद कमजोर पड़ जाएंगी। वे झुक जाएंगी या लड़ना पसंद करेंगी। देखा गया है कि उत्तर प्रदेश सहित कई प्रदेशों में कई क्षेत्रीय नेता सीबीआई छापे के बाद मुलायम पड़ जाते हैं।

अबतक यही देखा गया है कि ममता दबाव में झुकती नहीं हैं। जब लेफ्ट फ्रंट की सरकार के खिलाफ वे लड़ रही थीं, तब भी दबाव में वे झुकी नहीं। टाटा मोटर्स के साथ विवाद ही नहीं, नई भाजपा के खिलाफ भी उन्होंने कभी झुकना पसंद नहीं किया। बल्कि वे अकेली मुख्यमंत्री हैं, जो केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ हमेशा झंडा उठाए रहीं। कल ही उन्होंने एक नया नारा दिया है-बंगाल को चाहिए अपनी बेटी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*