नहीं आई पुलिस, चौकीदार ने उपलाते शव को बांस से ठेलकर बहाया

आखिर किसकी थी दो दिनों से विशनपुर धौस नदी में उपलाती लाश?

साहरघाट के विशनपुर स्थित धौस नदी में ग्रामीणों ने एक अज्ञात शव उपलाता देखा। सूचना देने के बाद भी नहीं आई पुलिस। चौकीदार ने शव को ठेलकर बहाया।

दीपक कुमार, मधुबनी

बुधवार के दिन साहरघाट थाना के विशनपुर गांव स्थित धौस नदी में एक अज्ञात लाश तैरती हुई ग्रामीणों ने देखी। ग्रामीणों के अनुसार लाश दो दिनों से नदी में उपला रही थी।

इस बात की सूचना ग्रामीणों ने साहरघाट की पुलिस को दी। लेकिन, साहरघाट पुलिस लाश को न तो नदी से निकालने आयी और न ही लाश का पोस्टमार्टम कराना जरूरी समझा। दो दिनों से एक लकड़ी में फंसी उस लाश को किसी चौकीदार ने उस जगह से एक बांस से धक्का देकर आगे बढ़ा कर पुलिस के कर्तव्यों की इत्तिश्री कर दी। ऐसे में आज भी यह सवाल बना हुआ है कि आखिर दो दिनों तक धौस नदी में तैरती वह लाश किस की थी? लाश कहां से नदी में आयी थी? इन सारे सवालों का जवाब लाश को नदी से निकाल कर शिनाख्त कर पोस्टमार्टम कराने से हो सकती थी। पर ऐसा नहीं किया गया। लाश की शिनाख्त करने की बात तो दूर, घटनास्थल पर सूचना मिलने पर भी पुलिस नहीं आयी। इस बात को लेकर भी चर्चाओं का बाजार गर्म है।

हद तो यह कि ग्रामीणों की सूचना पाकर भी घटनास्थल पर साहरघाट पुलिस नहीं गयी। आखिर,नदी में तैरती लाश किसकी है? उसकी हत्या हुई या आत्महत्या है? इस सब की पड़ताल करना भी साहरघाट की पुलिस ने मुनासिब नहीं समझा! दो दिनों से नदी में तैर रही यह लाश साहरघाट पुलिस की कार्यशैली पर बड़ा सवाल खड़ा करती है! आखिर,शव को नदी से निकाल कर कानूनी प्रक्रियाओं को साहरघाट की पुलिस ने क्यों नहीं पूरी की? इस सवाल का जवाब देने के लिए कोई भी तैयार नहीं हैं।

बलात्कारियों की आरती उतारने के खिलाफ पटना में नागरिक प्रतिवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*