नवदा में वक्फ भूमि लुटेरे को शह दे रही है पुलिस,अल्पसंख्यकों में भारी आक्रोश

नवादा के रजौली में वक्फ स्टेट 975 की भूमि पर अववैध कब्जा मामले में नवादा जिला वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष इबाल हैदर खान मेजर के दबाव में पुलिस ने सुरेश चौधरी पर एफआईआर दर्ज करने के बावजूद रात में निर्माण का काम किया जा रहा है.

Major Eqbal Haidar khan, Nawada waqf board
इकबाल हैदर खान ( Major Equbal Haidar Khan) ने दी रजौली थानाध्यक्ष को चेतावनी

हालांकि पुलिस के रवैये से लगता है कि वह इस मामले में लुंजपुंज रवैया अपना रही है. इस मामले में रजौली थानाध्यक्ष सुजय विद्यार्थी ने नौकरशाही डॉट कॉम के सम्पादक इर्शादुल हक से कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि वहां अवैध रूप से निर्माण का काम चल रहा है.

रजौली थानाध्यक्ष का लुजपुंज रवैया

सवाल यह है कि अगर पुलिस ने सुरेश चौधरी के खिलाफ वक्फ की भूमि पर अवैध कब्जा व निर्माण के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है, इसके बावजूद वक्फ बोर्ड, नवादा के अध्यक्ष इकबाल हैदर खान मेजर यह दावा कर रहे हैं कि वहां अवैध निर्माण चल रहा है. जब इस सवाल को नौकरशाही डॉट कॉम ने थानाध्यक्ष से उनका पक्ष जानन चाहा तो उन्होंने इस मामले में किसी अद्यत्म जानकारी से अनभिज्ञता जता कर यह साबित कर दिया है कि उनका रवैया इस मामले में काफी ढ़ीला है.

इस मामले में नवादा जिला वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष इकबाल मेजर खान ( Major Equbal Haidar Khan) ने पुलिस के लचीले रवैये पर चेतावनी देते हुए कहा है कि पुलिस ये न समझे कि हम हाथ पर हाथ धरे बैठे रहेंगे. हम कानून सम्मत हर कार्वाई करने से नहीं चूकेंगे.

इधर नवदा जिला वक्फ बोर्ड और सुन्नी वक्फ बोर्ड के कार्यपालक पदाधिकारी जैनु्द्दीन अंसारी ने थानाध्यक्ष के इस रवैये पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि इस मामले में जरूरत पड़ने पर वक्फ बोर्ड आला अधिकारियों को शिकायत की जायेगी.

यह भी पढ़ें- रक्षा व रेल मंत्रालय के बाद देश की सबस बड़ी जायदाद है वक्फ बोर्ड की,कब्जे से आजादी के लिए शुरू होगा जनआंदोलन

हालांकि रजौली के थानाध्यक्ष ने इस मामले में लॉकडाउन का हवाला देते हुए कहा कि इस मामले में डीएसपी खुद सुपरविजन करेंगे.

काबिले जिक्र है कि अल्पसंख्यक समुदाय द्वरा राज्य भर में दान की गयी लाखों एकड़ जमीन का उद्देश्य समुदाय कल्याण कार्य के लिए समर्पित है. इन जमीनों की की देख रेख की जिम्मेदारी बिहार राज्य सुन्नी वक्फ बोर्ड की है. इतना ही नहीं इन जमीनों पर अवैध कब्जे और अवैध निर्माण से निपटने के लिए बाजाब्ता वक्फ ऐक्ट है. वक्फ ऐक्ट की धारा 52 ए के तहत अवैध कब्जाधारियों पर एफआईआर होना चाहिए लेकिन नवादा की पुलिस ने इस धारा के तहत केस नहीं किया है.

सचिव ने 25 अप्रैल को रजौली के अनुमंडल पदाधिकारी को भी पत्र लिखकर अतिक्रमणकारियों पर कार्रवाई का आग्रह किया था। इधर, सुन्नी वफ्फ बोर्ड नवादा के अध्यक्ष इकबाल हैदर खान मेजर ने ने भी 28 अप्रैल को बिहार राज्य सुन्नी वफ्फ बोर्ड पटना के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी को लिखे पत्र में कहा है कि खानकाह वफ्फ इस्टेट 975 रजौली की भूमि पर सुरेश चौधरी द्वारा अवैध रूप से निर्माण कराया जा रहा है। इसके बावजदू पुलिस इस मामले में शिथिलता बरत करे अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है.

लॉकडाउन खत्म होने का अल्पसंख्यक कर रहे हैं इंतजार

वक्फ बोर्ड के अधिकारियों का इस मामले में साफ आरोप है कि पुलिस के लचीले रवैये से भू माफिया सुरेश चौधरी को सह मिल रहा है. उधर पुलिस के इस रवैये के कारण अल्पसंख्यक समुदाय में जबर्दस्त आक्रोश है. नवादा के एक सामाजिक कार्यकर्ता का कहना है कि लाकडाउन समाप्त होने के बाद पुलिस के रवैये के खिलाफ आंदोलन चलाया जायेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*