नीतीश के पक्ष में उतरे सुशील और रामविलास

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी एक बार फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पक्ष में खुलकर सामने आये और कहा कि श्री कुमार ही बिहार में राजग के ‘कैप्टन’ हैं और जब वह अपने प्रतिद्वंदियों को पारी के अंतर से पराजित कर रहे हैं, तब बदलाव का सवाल कहां उठता है।


श्री मोदी ने मंगोलिया में ‘पर्यावरण जागरुकता’ विषय पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में हिस्सा लेकर लौटने के बाद आज राजग की ओर से नेतृत्व में बदलाव किये जाने को लेकर लगायी जा रही सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर ट्वीट कर कहा कि श्री नीतीश कुमार बिहार में राजग के कप्तान हैं और वह वर्ष 2020 में होने वाले अगले विधानसभा चुनाव में भी कप्तान रहेंगे। जब कप्तान चौका और छक्का मार रहा हो और प्रतिद्वंदियों को पारी के अंतर से पराजित कर रहा हो तब किसी बदलाव का सवाल कहां उठता है।

गौरतलब है कि वर्ष 2013 में जब श्री नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री पद के लिए भाजपा की ओर से दावेदार बनाया जा रहा था उस समय भी श्री सुशील मोदी श्री कुमार के पक्ष में मजबूती से खड़े थे और कहा था कि श्री कुमार में प्रधानमंत्री बनने के सभी गुण मौजूद हैं।

इस बीच लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने आज कहा कि अगले वर्ष होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव में राजग की ओर से श्री नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री का चेहरा होंगे और उन्हीं के नेतृत्व में पूरी एकजुटता के साथ चुनाव लड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री का चेहरा बार-बार नहीं बदलता। उन्होंने कहा कि श्री कुमार मुख्यमंत्री के पद पर हैं और रहेंगे। उनके नेतृत्व में राजग 225 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करेगा। उन्होंने कहा कि राजग को कोई भी तोड़ने की कोशिश करेगा तो वह कामयाब नहीं हो सकता।

उधर पिछले सोमवार को भाजपा के विधान पार्षद और पूर्व केन्द्रीय मंत्री संजय पासवान ने श्री नीतीश कुमार को भाजपा के लिए वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद की दावेदारी छोड़ने की सलाह देकर बिहार और राजग में राजनीतिक हलचल बढ़ा दी थी। श्री पासवान ने कहा था कि श्री कुमार को मुख्यमंत्री का पद छोड़कर केंद्र की राजनीति करनी चाहिए। उन्हें केंद्र के महत्वपूर्ण मंत्रालय की जिम्मेवारी लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम करना चाहिए। श्री कुमार को केंद्र की राजनीति का लंबा अनुभव भी है। बिहार का मुख्यमंत्री बनने से पूर्व वह केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कुमार को मेरी निजी सलाह है कि वह अब बिहार की सत्ता भाजपा और जदयू के अन्य नेताओं के लिए छोड़ दें ताकि वे साथ मिलकर काम करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*