RRB NTPC : महागठबंधन भी कूदा बंद में, क्या हिल जाएगा बिहार

RRB NTPC : RJD भी कूदा बंद में, क्या हिल जाएगा बिहार

RRB NTPC अभ्यर्थियों ने 28 जनवरी को बिहार बंद का एलान किया है। महागठबंधन में शामिल राजद सहित पांच दलों ने खुलकर दिया समर्थन। क्या हिल जाएगा बिहार?

तीन दिनों तक रेलवे ट्रैक पर धरना-प्रदर्शन करके पूरे देश का ध्यान खींचने वाले आरआरबी-एनटीपीसी परीक्षार्थी कल शुक्रवार को बिहार बंद करेंगे। बंद को महागठबंधन में शामिल राजद, माले, सीपीआई, सीपीएम तथा कांग्रेस ने खुला समर्थन दिया है। ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट सहित अनेक अन्य संगठनों ने भी बिहार बंद को अपना समर्थन दिया है।

बिहार राजद के अध्यक्ष जगदानंद सिंह, कांग्रेस के राजेश राठौर, भाकपा माले के प्रदेश सचिव कुणाल, सीपीएम के राज्य सचिव अवधेश कुमार और सीपीआई के राम नरेश पांडेय ने संयुक्त रूप से कल के बिहार बंद का पुरजोर समर्थन किया है। पांटों दलों ने अपने बयान में कहा है कि छात्र-युवाओं का आक्रोश अकारण नहीं है। वे पिछले सात वर्षों में ठगे गए हैं। केंद्र के साथ राज्य सरकार ने भी रोजगार पाने के सभी दरवाजे बंद कर दिए हैं।

महागठबंधन में शामिल सभी दलों के नेताओं ने रेल मंत्री के कमेटी बनाने के प्रस्ताव को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि कमेटी चार मार्च तक रिपोर्ट देगी, इससे स्पष्ट है कि कमेटी सिर्फ यूपी चुनाव को ध्यान में रखकर बनाई गई है। यूपी चुनाव हो जाने के बाद फिर से मामले को लटका दिया जाएगा।

राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने पार्टी के सभी विधायकों, पूर्व विधायकों, प्रत्याशी रह चुके सभी नेताओं को पत्र लिखकर बंद में आगे आकर समर्थन देने को कहा है। इस पत्र से राजद की गंभीरता समझी जा सकती है। रोजगार के सवाल को तेजस्वी यादव ने पिछले विधानसभा चुनाव में प्रमुख मुद्दा बनाया था।

महागठबंधन के साथ ही अनेक अन्य संगठनों ने भी युवाओं के बिहार बंद को समर्थन दिया है। ऑल इंडिया पीपुल्स फ्रंट के राष्ट्रीय महासचिव डॉ. पीएनपी पाल और प्रदेश प्रवक्ता पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा ने भी बंद को समर्थन की घोषणा करते हुए कहा कि बिहार के युवा दमन नहींं, रोजगार चाहते हैं।

जाप के अध्यक्ष पूर्व सांसद पप्पू यादव ने कहा-फिर धोखा दिया सरकार! इसलिए कल हम करेंगे बिहार बंद! रेलवे NTPC की बहाली में धांधली की जांच कमेटी सिर्फ यूपी चुनाव तक मुद्दे को टालने की कोशिश है। 15 दिन में जांच क्यों नहीं? वहीं शिक्षकों छात्रों पर फर्जी मुकदमा कर फंसाया जा रहा है। यह BJP सरकार के ताबूत में आखिरी कील साबित होगी।

पकड़ा गया twitter, राहुल के फॉलोअर्स की संख्या कम की

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*