तेजस्वी ने की 20 सीटों पर रिकाउंटिंग की मांग

तेजस्वी ने की 20 सीटों पर रिकाउंटिंग की मांग

इमेज क्रेडिट – NDTV.com

महागठबंधन विधायक दल के नेता एवं बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने प्रेस कांफ्रेंस कर निर्वाचन आयोग से 20 सीटों पर रिकाउंटिंग की मांग की है.

तेजस्वी ने बिहार चुनाव की विश्वसनीयता पर प्रश्नवाचक चिन्ह खड़ा करते हुए कहा कि 130 सीटों पर हम जीते हैं लेकिन चुनाव आयोग के नतीजे एनडीए के पक्ष में आये. की कम से कम 20 सीटों पर महागठबंधन के उम्मीदवारों को अधिकारीयों की मिलीभगत से चुनाव हरवाया गया है.

तेजस्वी ने कहा कि जनता का जनादेश हमारे पक्ष में था. मतगणना में गड़बड़ी की गई है और जनमत महागठबंधन के पक्ष में आया है. उन्होंने चुनाव आयोग से सवाल किया कि पोस्टल बैलट को पहले क्यों नहीं गिना गया और कई सीटों पर इन वोटों को अवैध घोषित कर दिया गया.

तेजस्वी ने कहा कि 20 सीटों पर महागठबंधन बेहद कम अंतर से हारा है और कई सीटों पर 900 पोस्टल बैलट को अवैध घोषित किया गया.

राष्ट्रीय जनता दल ने ट्वीट करके आंकड़े जारी किये. इसके अनुसार “NDA को कुल वोट मिला- 157,00728 महागठबंधन को कुल मिला- 156,88458 कुल वोट का अंतर- 12270 मात्र 12270 वोट के अंतर से प्रशासन ने एनडीए को 15 सीट ज़्यादा जीता दी। इस आँकड़े पर विश्वास करने के लिए कम मार्जिन से हारने वाली 15 सीटें और भाजपा आयोग के आँकड़े देख लीजिए”।

तेजस्वी ने चुनाव आयोग से सभी 243 सीटों पर वोटों की गिनती का विडियो फुटेज भी जारी करने के लिए कहा है. फर्स्ट बिहार झाखंड की खबर के मुताबिक गोपालगंज से जदयू के सांसद अलोक सुमन पर अवैध तरीके से मतगणना हॉल में घुसने का आरोप है.

वहीँ आज से सोशल मीडिया पर भी विवादित परिणाम वाली सीटों पर दुबारा वोतोंग की गिनती कराने के लिए लगातार ट्विटर पर ट्वीट हो रहे हैं. ट्विटर पर #Recounting_Bihar_Election पर खबर लिखे जाने तक 30 हज़ार से ज्यादा ट्वीट हो चुके हैं. इसपर लोग कई सीटों पर दुबारा वोटों की गिनती को लेकर आवाज़ उठा रहे हैं.

बिहार चुनाव परिणाम के दिन महागठबंधन के कई प्रत्याशियों ने वोटों की गिनती में गड़बड़ी का आरोप लगाया है. बुधवार को परिहार सीट से आरजेडी उम्मीदवार ऋतू जयसवाल ने मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग को लिखी चिट्ठी है. उन्होंने आरोप लगाया कि लगभग 600 पोस्टल बैलट को बिना कारण बताये रद्द कर दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*