यूक्रेन पर हमला : पद्मश्री आचार्य चंदना ने कहा युद्ध नहीं, मैत्री चाहिए

यूक्रेन पर हमला : पद्मश्री आचार्य चंदना ने कहा युद्ध नहीं, मैत्री चाहिए

अबतक 2000 यूक्रेन के नागरिक मारे गए। लगभग 15 हजार भारतीय छात्रोंं का जीवन संकट में है। पद्मश्री आचार्य चंदना जी ने कहा, दुनिया को युद्ध नहीं, मैत्री चाहिए।

जैन धर्म की पहली महिला आचार्य पद्मश्री आचार्य चंदना जी ने यूक्रेन पर रूसी हमले और जारी युद्ध पर चिंता जताते हुए कहा कि आज विश्व को युद्ध की नहीं, भगवान महावीर के मैत्री की सर्वाधिक जरूरत है। उन्होंने प्रार्थना की है कि सभी पक्षों को सद्बुद्धि आएगी और युद्ध बंद होगा।

मालूम हो कि पिछले एक हफ्ते से जारी रूसी हमले में 2000 यूक्रेनी नागरिक मारे गए हैं। यह जानकारी यूक्रेन के स्टेट इमरजेंसी सर्विस ने न्यूज एजेंसी एपी को दी है। यूक्रेन में हजारों भारतीय छात्रों का जीवन संकट में है। वे माइनस पांच डिग्री सेस्लियस में खुले में रहने को मजबूर हैं। उनके पास खाने के सामान तक खत्म हो रहे हैं। रूसी हमले में एक भारतीय छात्र की मौत हो चुकी है। आज भी एक भारतीय छात्र की किसी बीमारी के कारण मौत हो गई। सबसे बुरी खबर यह है कि रूसी विदेश मंत्री ने आज कहा कि तीसरा विश्व युद्ध परमाणु युद्ध होगा।

भगवान महावीर ने दुनिया को अहिंसा और मैत्री का मंत्र दिया। अहिंसा और मैत्रीभाव के जरिये किसी भी समस्या का समाधान किया जा सकता है। युद्ध किसी समस्या का हल नहीं करता, बल्कि युद्ध खुद ही दुनिया के लिए समस्या बन जाता है।

वीरायतन की संस्थापक पद्मश्री आचार्य चंदना जी को लोग सम्मान के साथ ताई मां भी कहते हैं। ताई मां ने पूरे विश्व में करुणा, मैत्री के महत्व पर जोर देते हुए कहा- एक्का मणुस्सजाई अर्थात सारी मानव जाति एक है। भगवान महावीर के विश्व दृष्टिकोण से ही विश्व कल्याण होगा।

वीरायतन, राजगीर मानव सेवा, शिक्षा के प्रसार के साथ ही भगवान महावीर के अहिंसा, मैत्री, करुणा, क्षमा, त्याग जैसे मानवीय मूल्यों के प्रसार का महत्वपूर्ण केंद्र है। आचार्यश्री चंदना जी ताई मां यहां आनेवाले सबसे मिलती हैं और उन्हें भगवान महावीर के संदेश से परिचित कराती हैं। आप भी राजगीर जाएं, तो वीरायतन जरूर जाएं।

IPS विकास वैभव की पहल, महिला दिवस पर गार्गी अवार्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*