प्रियंका का मौन भी गूंजा, मंत्री की बरखास्तगी का बढ़ा दबाव

प्रियंका का मौन भी गूंजा, मंत्री की बरखास्तगी का बढ़ा दबाव

मौन की भी आवाज होती है। आज प्रियंका ने लखनऊ में गृह राज्य मंत्री की बरखास्तगी की मांग पर मौन व्रत रखा। इस मौन की गूंज दिनभर सोशल पर सुनी गई।

लखनऊ में महात्मा गांधी की प्रतिमा के नीचे मौन व्रत पर प्रियंका गांधी

आज कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी की बरखास्तगी की मांग पर लखनऊ में गांधी प्रतिमा के नीचे दिनभर का मौन व्रत रखा। इस मौन व्रत की चर्चा सोशल मीडिया पर छायी रही। उनके साथ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और कुछ चुनिंदा नेता थे। कांग्रेस ने यूपी के सभी जिलों के साथ ही आज देशभर में मौन व्रत रखा।

प्रियंका गांधी ने कल ही बनारस में किसान न्याय रैली की थी। वहां भी प्रमुख मांग मंत्री की बरखास्तगी थी। लगता है, कांग्रेस ने अब केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी उर्फ टेनी महाराज की बरखास्तगी को केंद्रीय मुद्दा बना दिया है। उन्होंने मौन व्रत की समाप्ति के बाद ट्वीट किया-मंत्री का बेटा किसानों की हत्या के आरोप में गिरफ्तार। क्या अब भी मंत्री को अपने पद पर बने रहने का है अधिकार? निष्पक्ष जांच और न्याय के लिए केंद्रीय गृह मंत्री की बर्खास्तगी जरूरी है। @narendramodi जी अपने मंत्री को संरक्षण देना बंद करिए।

इससे पहले राहुल गांधी ने ट्वीट किया-इस मंत्री को बर्खास्त ना करके भाजपा न्याय की प्रक्रिया में बाधा डाल रही है। केंद्र सरकार ना तो किसानों की परवाह करती है, ना ही हत्या के शिकार भाजपा कार्यकर्ताओं की।

आज बिहार में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मौन व्रत रखा। मौन व्रत में एआईसीसी की तरफ से बिहार के प्रभारी भक्त चरण दास, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डा. मदन मोहन झा सहित सभी प्रमुख नेता शामिल थे।

ऐसा लगता है, जैसे प्रियंका गांधी की लगातार आक्रामक पहलकदमी ने यूपी में पार्टी में नई जान फूंक दी हो। उत्तर प्रदेश के मुद्दे को कांग्रेस लगातार राष्ट्रीय मुद्दा बनाने का प्रयास कर रही है। मकसद यह है कि यूपी, जो भाजपा के हिंदुत्व की नई प्रयोगशाला है, उसे वहीं घेर दिया जाए।

बैंक लूट सुनी थी, बिहार में पहली बार पेट्रोल लूट, मर्डर भी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*