राजद के निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष बने लालू, बनते ही जंग का एलान

राजद के निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष बने लालू, बनते ही जंग का एलान

लालू प्रसाद को राजद के निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिये गए। बनते ही संघ पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। पंजाब से दक्षिण के राज्यों तक उनके बयान की चर्चा।

लालू प्रसाद बुधवार को राजद के निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिये गए। इस घोषणा के साथ ही उन्होंने संघ को देश की एकता और भाईचारे के लिए खतरनाक बताते हुए उस पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। उन्होंने संघ के खिलाफ युद्ध का एलान कर दिया। उनके इस एलान की चर्चा उत्तर में पंजाब से लेकर दक्षिण के राज्यों तक से प्रकाशित होनेवाले अखबारों, डिजिटल मीडिया में हो रही है।

सहायक राष्ट्रीय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी चित्तरंजन गगन ने बताया कि राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद‌ के लिए पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार एक मात्र उम्मीदवार निवर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद द्वारा नई दिल्ली स्थित राजद के राष्ट्रीय कार्यालय में राष्ट्रीय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी उदय नारायण चौधरी एवं सहायक राष्ट्रीय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी चित्तरंजन गगन के समक्ष पांच सेटों में नामांकन पत्र दाखिल किया गया। जांचोपरांत पांचों सेटों का‌ नामांकन पत्र वैद्य पाया गया। नामांकन पत्र वापस लेने की अवधि समाप्त होने के पश्चात राष्ट्रीय मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के एक मात्र उम्मीदवार श्री लालू प्रसाद को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर निर्विरोध निर्वाचित होने की अधिसूचना जारी कर दी गई है। आगामी 10 अक्टूबर, 2022 को नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित नवगठित राष्ट्रीय परिषद की बैठक में औपचारिक रूप से श्री प्रसाद को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर निर्वाचित होने की घोषणा के साथ हीं निर्वाचन सम्बन्धी प्रमाण पत्र सौंपा जाएगा।
इस अवसर पर पार्टी के विभिन्न राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों और राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों के साथ हीं बड़ी संख्या में राजद कार्यकर्ता उपस्थित थे और ढोल नगाड़े के साथ अपनी खुशी का इजहार कर रहे थे।

गगन ने बताया कि श्री प्रसाद के प्रस्तावकों में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव, बिहार विधान परिषद‌ के उप सभापति डॉ रामचन्द्र पूर्वे, बिहार प्रदेश राजद अध्यक्ष जगदानंद सिंह, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुल बारी सिद्दीकी, राज्यसभा सांसद डॉ मीसा भारती , प्रेमचन्द गुप्ता,अशफाक करीम, बिहार सरकार के मंत्री तेज प्रताप यादव, आलोक कुमार मेहता, ललित यादव‌,समीर कुमार महासेठ, चन्द्रशेखर, सुधाकर सिंह,‌ डॉ शमीम ,‌ कुमार सर्वजीत, जीतेन्द्र राय, शाहनवाज आलम, सुरेन्द्र राम,मो इसराइल मंशुरी , अनिता देवी, महाराष्ट्र राजद अध्यक्ष विजय खंडारे, गुजरात राजद अध्यक्ष असलम मल्लिक, दिल्ली राजद‌ अध्यक्ष मनोज कुमार चौधरी, केरला राजद अध्यक्ष अन्नु चाको, पंजाब राजद अध्यक्ष विपिन गुप्ता, उ.प्रदेश राजद अध्यक्ष अशोक सिंह , मुम्बई राजद अध्यक्ष मो.इकबाल सईद, पूर्व केंद्रीय मंत्री जयप्रकाश नारायण यादव, श्रीमती कांति सिंह, राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक,पूर्व सांसद विधायक राजवंशी महतो, पूर्व सांसद रामकिशोर सिंह, राजनीति प्रसाद, सुरेन्द्र यादव , विधायक सुनील सिंह, रामवृक्ष सदा, कृष्ण मोहन , रेखा देवी ,भरत बिंद, रामबली चन्द्रवंशी, संगीता कुमारी, निरंजन कुमार,मो. फैसल अली, विनय कुमार, सुभाष यादव सहित देश के विभिन्न राज्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले राष्ट्रीय परिषद के पचास सदस्य शामिल हैं।

गरजे लालू, PFI से बदतर है RSS, उस पर भी प्रतिबंध लगाओ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*