अपहरणकांड: एक नेता का बॉडीगाड लिया जा सकता है हिरासत में

सुहैल हिंगोरा अपहरणकांड में पुलिस एक राजनेता के बॉडीगा को कभी भी हिरासत में ले सकती है पुलिस को शक है कि वह उसी इलाके का है जहां सुहैल को बंधक रखा गया था.

इसी फैक्ट्री से हुआ था हिंगोरा का अपहरण

इसी फैक्ट्री से हुआ था हिंगोरा का अपहरण

विनायक विजेता

जरूर पढ़ें-25 करोड़ का अपहरण: तीन राजनेता जांच के दायरे में

सूरत के व्यवसायी हनीफ हिंगोरा के बेटे सोहैल हिंगोरा को दमन से अगवा करने के मामले पर सारण पुलिस ने भी एक कदम बढ़ाते हुए नयागांव थाने में एक एफआइआर दर्ज कराई है.

नयागांव में ही सुहैल हिंगोरा को रखा गया था. इस मामले में गिरफ्तार रंजीत सिंह समेत पांच लोगों को नामजद किया गया है.

हालांकि जिन तीन राजनेताओं की इसमें संलिप्तता की बात की जा रही है उनके बारे में भी जांच की जा रही है. अतिमहत्वपूर्ण सूत्रों का कहना है कि एक राजनेता का बॉडीगाड जिस इलाके का है उसी इलाके में सुहैल हिंगोरा को बंधक बना कर 25 दिनों तक रखा गया था. जो एक छोटा सा कमारा है और इस कमरे में उसके हाथ में पुलिस की हथकड़ी लगा कर रखा जाता था तथा उसे सिर्फ एक समय दो रोटी खाने को दी जाती थी ताकि वह शारीरिक रूप से इतना कमजोर रहे कि वह भाग न सके.

इधर इस मामले में दमन की पुलिस ने रंजीत सिंह को गिरफ्तार कर चुकी है और बिहार पुलिस उसके दूसरे भाई की तलाश में लगी है जो फरार है. उधर झारखंड से खबर है कि रंजीत के पिता जो झारखंड पुलिस में एएसआई हैं, उनके वेतन निकासी पर रोक लगा दी गयी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*