निषाद समाज को एसटी का दर्जा देने में विलंब कर रही नीतीश सरकार

निषाद विकास संघ के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सन ऑफ मल्‍लाह मुकेश सहनी ने आज पटना स्थित अवर अभियंता भवन में वर्ष 2016 में संघ के द्वारा किए गए कार्यों का रिपोर्ट कार्ड जारी किया, जिसमें संघ के कार्यों और उपलब्धियों का लेखा-जोखा प्रस्‍तुत किया गया है। मौका था निषाद विकास संघ के सक्रिय कार्यकर्ता सम्‍मेलन का। बता दें कि संघ ने इस रिपोर्ट कार्ड का नाम ‘संघर्ष: सफलता की कहानी’ का नाम दिया है।sahani

निषाद विकास संघ ने जारी किया 2016 का रिपोर्ट कार्ड

 

रिपोर्ट कार्ड जारी करते हुए संघ के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष श्री मुकेश सहनी ने बताया कि इस रिपोर्ट कार्ड में पिछले साल बिहार में निषाद समाज को एसटी का दर्जा दिलाने के संघर्ष का भी जिक्र है, जिस पर सरकार देरी कर रही है। उन्‍होंने कहा कि बिहार में निषाद विकास संघ ने निषाद समाज के संघर्ष को क्रांति का रूप दिया। संघ ने निषाद समाज के उत्‍थान के लिए कई कार्य भी किए, जिससे निषाद समाज के विकास में काफी मदद मिली है। ठीक इसी तरह निषाद विकास संघ के संघर्ष को उत्तर प्रदेश की अखिलेश सरकार ने भी संज्ञान में लिया और निषाद समाज के लोगों एससी का दर्जा दिया। 22 दिसंबर 2016 को उत्तर प्रदेश की कैबिनेट ने निषाद समाज को एससी का दर्जा दिलाने में निषाद विकास संघ ने महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई।  सन ऑफ मल्‍लाह मुकेश सहनी ने निषाद विकास संघ के आगामी कार्य योजना की चर्चा करते हुए कहा कि निषाद विकास संघ इस साल लोगों को सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्‍न महत्‍वाकांक्षी योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक करने का अभियान चलाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*