केंद्र में गैरभाजपा सरकार बनेगी, तभी बिहार का होगा तीव्र विकास

बिहार के और भी तीव्र विकास के लिए केंद्र में गैरभाजपा सरकार जरूरी

नीतीश कुमार ने कहा कि पूरा बिहार विशेष राज्य का दर्जा मांगता रहा। नहीं दिया। बिहार और अन्य पिछड़े राज्यों के विकास के लिए केंद्र में गैरभाजपा सरकार जरूरी।

7 निश्चय-2 के अंतर्गत मुख्यमंत्री ग्रामीण सोलर स्ट्रीट लाईट योजना का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार विधानसभा ने सर्वसम्मति से विशेष राज्य का दर्जा मांगा। बिहार की जनता ने मांग की। लेकिन केंद्र सरकार ने विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया। हमने खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से छोटी सी मांग की कि पटना विवि को सेंट्रल सूनिवर्सिटी बना दीजिए। प्रधानमंत्री ने बिहार की इस छोटी मांग को भी पूरा नहींं किया। हम अपने बल-बूते बिहार का विकास कर रहे हैं। लेकिन विकास की गति को तेज करने के लिए, पिछड़ेपन से मुक्ति और विकसित प्रदेश बनने के लिए जरूरी है कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले। विशेष दर्जा मिलने से राज्य में उद्योग-धंधों का तेजी से विकास होगा।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र में गैरभाजपा सरकार बनने पर ही बिहार और बिहार जैसे अन्य पिछड़े राज्यों की किस्मत बदलेगी। केंद्र को विकास से मतलब नहीं है। वे सिर्फ बयान देते हैं और बांटने की राजनीति करते हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि इसीलिए वे गैरभाजपा सभी दलों को एकजुट करने का प्रयास कर रहे हैं।

इधर समाज कल्याण मंत्री मदन सहनी ने जदयू कार्यालय में गोवा के संदर्भ में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि भाजपा का काम ही तोड़-फोड़ है। भाजपा को बिहार ने ही जवाब दिया है और आने वाले समय में पुरे देश से उनके खात्मे की शुरुआत की गयी है। फिलहाल लम्बे समय से बेरोजगार चल रहे सुशील मोदी भी ट्वीट करने में व्यस्त हो चुके हैं। बेगूसराय मामले पर केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि नीतीश जी के नाम पर चुनाव जितने के बाद आज उन्हीं पर आरोप लगा रहे हैं, हो सकता है यह साजिश उन्हीं की हो।

बेगूसराय कांड पर खदेड़े गए गिरिराज सिंह, लगे हाय-हाय के नारे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*