फिल्म नहीं हकीकत: पुलिसकर्मी बोगी से कूदा, दूसरी बोगी में चढ़के बलात्कारी को ट्रेन से फेक महिला की आबरू बचाई

फिल्मों  जैसा दृश्य वास्तविक लाइफ तब दिखा जब एक पुलिसकर्मि ने आधी रात को चलती ट्रेन में एक युवक द्वार महिला के रेप का दुस्साहस किया जा रहा था पुलिसकर्मी ने चीखने आवाज सुनी तो दूसरे डब्बे से जम्प कर घटना वाले डब्बे में जा घुसा और उसे चलती ट्रेन से बाहर फेक कर महिला की आबरू बचा ली.

यह घटना चेन्नई में सोमवार को 11.45 बजे रात को हुई. आरपीएफ के जवान के शिवजी अपने अन्य सहकर्मियों के साथ ट्रेन में थे. उन्होंने महिला बोगी में एक युवती को सफर करते देखा था. वह बोगी में अकेली थी. उसी समय शिवजी ने महिला से कहा था कि वह बोगी चेंज कर ले. लेकिन युवती उसी बोगी में सफर करने पर आमादा थी.

 

कुछ देर बाद शिवजी दूसरी बोगी में पेट्रोलिंग करते हुए चले गये. बाद में उन्होंने महिला के चीखने की आवाज सुनी. शिवजी भान गये कि कुछ गड़बड़ है. लेकिन उनकी समस्या यह थी कि उस बोगी में जाने के लिए कोई रास्ता नहीं था. चलती ट्रेन में उस बोगी में जाना जोखिम भरा था. लेकिन उन्होंने यह जोखिम उठाया और पहले अपनी बोगी से चलती ट्रेन से दौड़ते हुए उतरे और दूसरे पल महिला बोगी में फांद कर चढ़ गये.  अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने लिखा है कि  उन्होंने देखा कि महिला फर्श पर बेसुध पड़ी थी और युवक उसके ऊपर से हमलावर था. लेकिन ऐन मौके पर शिवजी पहुंच गये और उन्होंने युवक को चलती गाड़ी से घसीटा और बहार धकेल दिया. चूंकि इस वक्त तक ट्रेन थोड़ी धीमी हो चुकी थी इसलिए युवक की जान बच गयी.

सेक्सुअल असाल्ट करने वाले युवक का नाम एस सत्यराज बताया जा रहा है. 26 वर्षीय सत्यराज को अस्पताल पहुंचाया गया और फिर उसे अरेस्ट कर लिया गया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*