मैं RSS के दफ्तर में नहीं जा सकता, मेरा गला काटना पड़ेगा : राहुल

मैं RSS के दफ्तर में नहीं जा सकता, मेरा गला काटना पड़ेगा : राहुल

#BharatJodoYatra के दौरान राहुल गांधी ने पंजाब में कहा कि मेरे परिवार की एक विचारधारा है। मैं RSS के दफ्तर में नहीं जा सकता, मेरा गला काटना पड़ेगा।

कुमार अनिल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पंजाब के होशियार में मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मेरे परिवार की एक विचारधारा है। एक थॉट सिस्टम है। मैैं आरएसएस के ऑफिस में नहीं जा सकता। इसके लिए आपको मेरा गला काटना पड़ेगा। मैं नहीं जा सकता।

राहुल गांधी ने पंजाब में कहा कि सिख इस देश की रीढ़ की हड्डी हैं। हमारे देश के बनाने में उनकी केंद्रीय भूमिका रहा है। उन्होंने कहा कि सिखों से उनका और देश का रिश्ता बहुत गहरा है। सिखों के बिना भारत के भारत होने की कल्पना नहीं की जा सकती।

राहुल गांधी ने संघ की विचारधारा पर जम कर हमला बोला। उनसे पूछा गया कि क्या वरुण गांधी कांग्रेस में आना चाहें, तो वे आ सकते हैं। राहुल ने कहा कि वरुण भाजपा में हैं। उन्हें परेशानी हो सकती है, क्योंकि हमारी विचारधारा आरएसएस के बिल्कुल खिलाफ है। राहुल ने आगे कहा कि आज हिन्दुस्तान के सभी संस्थानों पर RSS और BJP का कंट्रोल है। प्रेस, ब्यूरोक्रेसी, चुनाव आयोग और न्यायालय पर BJP-RSS का दबाव है। ऐसे में यह लड़ाई राजनीतिक पार्टियों के बीच नहीं, बल्कि भारत के संस्थानों और विपक्ष के बीच है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने संघ की विचारधारा के बाद बढ़ती गरीबी और असमानता का सवाल उठाया। कहा-हिंदुस्तान के सबसे अमीर 1% के पास हिंदुस्तान का 40% धन है। ये जो असमानता है इसके खिलाफ हमने यात्रा शुरू की है। इसके साथ ही उन्होंने महंगाई का सवाल उठाया और कहा कि मोदी सरकार की नीतियों की वजह से महंगाई है।

राहुल गांधी ने जिस तरह संघ पर हमला बोला, उससे कई विपक्षी दलों की परेशानी बढ़ सकती है। कई दल ऐसे हैं, जो समय-समय पर आरएसएस को अच्छा संगठन बताते रहे हैं। इनमें ममता बनर्जी भी हैं। सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी संघ के खिलाफ ज्यादा मुखर नहीं रहे। राहुल ने विपक्षके ऐसे दलों से एक लकीर खींच दी है।

जजों की नियुक्ति पर केंद्र के पत्र को विपक्ष ने कहा जहर की पुड़िया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*