RSS के आरक्षण वाले बयान पर बिहार में उठा इंकलाबी स्वर फूका भागवत व मोदी का पुतला

RSS के आरक्षण वाले बयान पर बिहार में उठा इंकलाबी स्वर फूका भागवत व मोदी का पुतला

RSS Mohan Bhagwat

मोहन भागवत के आरक्षण वाले बयान पर बिहार में उठा इंकलाबी स्वर

RSS प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण पर दिये बयान पर बिहार में इंकलाबी स्वर गूंजने लगे हैं. नाराज सियासतदानों ने मोहन भागवत व प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का पटना में पुतला फूक कर उनका विरोध जताया.

हिंदुस्तान अवाम मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने पटना के प्रमुख डाकबंगाल चौराहे पर एक हो कर नरेंद्र मोदी तेरी मनमानी नहीं चलेगी, मोहन भागवत की मनमानी नहीं चलेगी के नारे लगाये. इस अवसर हम कार्यकर्ताओं ने RSS प्रमुख मोहन भागवत  व प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के पुतले को विरोध स्वरूप आग लगा दी.

RSS पहले भी उठा चुका है आरक्षण का मुद्दा

याद रहे कि पिछले दिनों RSS यानी राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के सर संघ चालक मोहन भागवत ने छात्रों के एक समारोह को संबोधित करते हुए कहा था कि आरक्षण के मुद्दे पर, आरक्षण समर्थकों और विरोधियों के बीच बहस होनी चाहिए.

 

मोहन भागवत जी आइए आरक्षण पर दो-दो हाथ कर ही लें- मुस्लिम स्कॉलर की चुनौती

मोहन भागवत के इस बयान में हालांकि आरक्षण को समाप्त करने की प्रत्यक्ष रूप से बात नहीं की गयी थी लेकिन आरएसएस आरक्षण का विरोध करता रहा है.

आरक्षण खत्म करने का केंद्र का भांडा फूटा, लालू ने मोदी से कहा खामयाजा भुगतने को तैयार रहिये

इससे पहले 2015 में भी मोहन भागवत ने आरक्षण पर बयान दिया था उस समय लालू प्रसाद ने मोहन भागवत को चुनौती दी थी कि किसी माई के लाल में आरक्षण समाप्त करने की हिम्मत है तो करके दिखाये.

मोहन भागवत का हो रहा है देश भर में विरोध

मोहन भागवत के ताजा बयान से फिर देश के अलग अलग हिस्सों में इसका विरोध हो रहा है. सोशल मीडिया पर भी लोग बड़ी संख्या में मोहन भागवत के इस बयान के विरोध में पोस्ट डाल रहे हैं.

मोहन भागवत का यह बयान ऐसे समय में आया है जब पिछले दिनों स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने राज्य में आरक्षण का दायरा बढ़ा कर 72 प्रतिशत कर दिया है. बघेल ने घोषणा की कि ओबीसी को मिलने वाले 14 प्रतिशत  आरक्षण को बढ़ा कर 27 प्रतिशत  और अनुसूचित जाति को मिलने वाले 12 प्रतिशत के आरक्षण को बढ़ा कर 13 प्रतिशत किया जाता है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*