कोविड से उबरने के एक माह बाद तक रह सकती है समस्याः डॉ. मुकेश

कोविड से उबरने के एक माह बाद तक रह सकती है समस्याः डॉ. मुकेश

एशियन सिटी अस्पताल में इंटरनल मेडिसिन के एसोसिएट डायरेक्टर डॉ. मुकेश कुमार ने कहा कि कोविड निगेटिव होने के बाद भी मरीजों में कई तरह की परेशानी रहती है।

कोविड से उबरने के बाद भी उसका लक्षण मौजूद रहता है। इसे ‘लांग कोविड‘ कहते हैं। यह स्थिति चार सप्ताह तक रह सकती है। कुछ मरीजों में 12 सप्ताह भी कोविड के लक्षण या समस्या रहती है। यह कहना है एशियन सिटी अस्पताल में इंटरनल मेडिसिन के एसोसिएट डायरेक्टर डॉ. मुकेश कुमार का।

डॉ. मुकेश कुमार ने बताया कि कोविड के बाद या पोस्ट-कोविड काल में थकान, सोचने में दिक्कत, ध्यान केंद्रीत करने में दिक्कत, बेचैनी, काम करने या चलने-फिरने में सांस फूलना, खांसी-कफ, खड़ा होने पर चक्कर आना, गंध या टेस्ट का पता नहीं चलना, धड़कन तेज होना, छाती में दर्द, जोड़ व मांसपेशी में दर्द, डिप्रेशन आदि समस्या आती हैं। जो मरीज आईसीयू में रहे थे उनमें स्टे्रस की समस्या भी देखने को मिलती है। बुखार दुबारा आना शुरू हो सकता है। उनके अनुसार कोविड में शरीर के सभी अंग शामिल होते हैं। ऐसे में वो अंग प्रभावित होता है। इस वजह से कोविड से उबरने के बाद भी उसका असर कुछ दिनों तक बना रहता है। यदि किसी को स्वास्थ्य की पूर्व से समस्या है तो बीमारी बढ़ जाती है। यदि कोई दमा का रोगी है और उसे कोविड हो गया तो उसकी समस्या और बढ़ जाएगी।

खून का थक्का जमने की भी शिकायत

एशियन अस्पताल के डाॅ. मुकेश ने बताया कि पोस्ट-कोविड काल में रक्त की धमनियों में खून का थक्का जमने की आशंका होती है। यह थक्का जिस अंग में जाता है उस अंग से संबंधित समस्या सामने आती है। यदि हृदय में चला गया तो हृदयघात होता है। मस्तिष्क में चला गया तो लकवा मार सकता है। इसी तरह शरीर के जिस अंग में जाएगा उससे संबंधित विकार सामने आएगा। ऐसे में पोस्ट -कोविड के बाद मरीज सर्तक रहें। कोविड से उबरने के सात दिन बाद डॉक्टर से मशविरा लें। फिर भी कोई समस्या हो तो डॉक्टर से दिखाएं।

छात्रों की कामयाबी से हज भवन कोचिंग में खुशी, बढ़ेंगी सुविधाएं

ठीक होते ही पुरानी बीमारी की दवा शुरू कर दें

यदि किसी मधुमेह, किडनी या हार्ट के रोगी को कोविड हो जाता है तो वो कोविड से उबरने के बाद अपनी पुरानी बीमारी का दवा लेना शुरू कर दें। अपनी पुरानी बीमारी का दवा छोड़नी नहीं चाहिए। मधुमेह के रोगी विशेष तौर पर अपना ख्याल रखें। शरीर में शर्करा का स्तर नियंत्रित रखें।

ब्लैक-फंगस को लेकर सतर्क रहें

डॉ. मुकेश के मुताबिक ब्लैक फंगस को लेकर कोविड से उबरने वाले मरीज सावधान रहें। इसके कुछ लक्षण होते हैं, जैसे- नाक से काले रंग का पदार्थ का गिरना, नाक के दोनों तरफ दर्द, सिरदर्द, आंख के पीछे दर्द, नाक और आंख के आसपास ऊभार होना आदि। इस तरह के कुछ भी लक्षण हो तो तत्काल डॉक्टर को दिखाएं। तनिक देर न करें। कोविड के बाद शरीर में हाईडे्रशन या पानी की मात्रा को बनाए रखें। फेफड़े को बेहतर करने के लिए सांस का व्यायाम करें। अचानक से अधिक काम करना नहीं शुरू करें। पोष्टिक आहार लें, जिसमें प्रोटिन भरपूर हो। धूम्रपान या शराब का सेवन न करें। पर्याप्त नींद लें। व्यायाम धीरे-धीरे शुरू किया जा सकता है। शुरू में पांच-10 मिनट का व्यायाम हो। यदि हृदय रोगी हैं तो दो-तीन सप्ताह बाद व्यायाम करें।

टीका बेहद कारगर

कोरोना से उबरने के तीन माह बाद टीका लें और जरूर लें। टीका लेने के बाद यदि पुनः संक्रमित होते हैं तो उसका असर मद्धिम होगा। अस्पताल जाने की नौबत नहीं आएगी। टीका लगवाने जाते समय सावधानी बरतें।

परिचयः डॉ. मुकेश कुमार पिछले डेढ़ दशक से इंटरनल मेडिसिन के डॉक्टर के रूप में सेवा दे रहे हैं। वो देश और पटना के प्रसिद्ध अस्पतालों में सेवा दे चुके हैं या दे रहे हैं। फिलवक्त पाटलिपुत्र कॉलोनी स्थित एशियन सिटी अस्पताल में इंटरनल मेडिसिन के एसोसिएट डायरेक्टर हैं। 12 वर्ष तक दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल, फोर्टिस अस्पताल, बत्रा अस्पताल, मैक्स अस्पताल और कोलंबिया एशिया अस्पताल में सेवा दी। फिर वर्ष 2012 में पटना आ गए। यहां एक वर्ष तारा अस्पताल में सेवा दी। फिर पारस एचएमआरआई से जुड़ गए। पिछले माह एशियन सिटी अस्प्ताल ज्वाइन किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*