महिला एकदिवसीय में बिहार हारा, पर हर्षिता ने किया संघर्ष

महिला एकदिवसीय में बिहार हारा, पर हर्षिता ने किया संघर्ष

बीसीसीआई द्वारा आयोजित सीनियर महिला एकदिवसीय ट्रॉफी में आज एलुर क्रिकेट स्टेडियम, बेंगलुरु में बिहार व पांडुचेरी के बीच मुकाबला हुआ। बिहार 7 विकेट से हारा।

बीसीए मीडिया कमेटी के संयोजक कृष्णा पटेल ने बताया कि आज सुबह टॉस बिहार के कप्तान ने जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया। बिहार की पारी की शुरुआत करने आई सलामी बल्लेबाज प्रीति और सना अली अच्छी शुरुआत दिलाने में नाकाम रहीं। टीम का बिना खाता खोले प्रीति प्रिया मैच के पहले ओवर की तीसरी गेंद पर जया कि शिकार बनीं। जया ने क्लीन बोल्ड कर चलता किया।

दूसरा झटका 8 रन के योग पर अपूर्वा कुमारी के रूप में लगा। जब 4 रन के निजी स्कोर पर अमृता शरण ने अपना शिकार बनाते हुए कनी के हाथों कैच कराकर पवेलियन का रास्ता दिखाया। तीसरा झटका 8 रन के योग पर ही बिहार को लगा जब कप्तान रचना बिना खाता खोले कनी का शिकार बनीं। करुणा जैन ने कैच लिया। बिहार की पूरी टीम 45.4 ओवरों में 152 रनों पर सिमट गई।

रचना की कप्तानी में बिहार महिला क्रिकेट टीम बेंगलुरु पहुंची

बिहार की ओर से हर्षिता ने सर्वाधिक 42 रन, विकेटकीपर बल्लेबाज श्रुति ने 24 रन, सना अली ने 21 रन, अपूर्वा और प्रीति प्रिया ने 11-11 रन जबकि श्रद्धा और प्रगति ने 10-10 रनों का योगदान दिया।

पांडुचेरी की ओर से गेंदबाज अमृता शरण ने 26 रन देकर तीन विकेट, रीना टी ने 30 रन देकर तीन विकेट झटके। कनी 24 रन देकर दो और जया ने 33 रन देकर एक सफलता हासिल की।

वीनू मांकड अंडर-19 प्रतियोगिता के लिए 8 केंद्रों पर ट्रॉयल

जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी पांडुचेरी टीम की शुरुआत भी कुछ खास नहीं रही और पांडुचेरी को पहला झटका 3.3 ओवरों में 20 रन के योग पर युवाश्री के रूप में लगी जब 4 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर अपूर्वा ने श्रद्धा के हाथों कैच कराकर बिहार को पहली सफलता दिलाई।

बिहार को दूसरी सफलता 50 रन के योग पर 13.3 ओवरों में रीना टी के रूप में मिली जब प्रगति सिंह ने प्रीति प्रिया के हाथों कैच कराकर 1 रन के निजी स्कोर पर पवेलियन का रास्ता दिखाया।
पांडुचेरी को तीसरा और आखिरी झटका 35.1 ओवरों में 129 रन के योग पर लगा जब रोशिनी आर 30 रन के व्यक्तिगत स्कोर पर अपना संयम खो बैठी जिसे श्रद्धा ने पगबाधा कर पवेलियन का रास्ता दिखाया।

उसके बाद एक छोर पर डटकर बल्लेबाजी कर रही सलामी बल्लेबाज बी. एस. तमोर ने मोर्चा संभाले रखा और 96 रन की नाबाद अर्धशतकीय पारी खेलते हुए पांडुचेरी को कोई और नुकसान होने नहीं दिया और टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

पांडुचेरी ने 42वें ओवर में 3 विकेट खोकर 156 रन बनाकर विजयी लक्ष्य को हासिल करते हुए बिहार को 7 विकेट से पराजित किया। बिहार की गेंदबाज अपूर्वा, प्रगति सिंह और श्रद्धा को एक-एक सफलता हाथ लगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*